एक देश एक मतदाता सूची से पूरे देश में होंगे लोकसभा,विधानसभा और स्थानीय निकायों के चुनाव

by | Aug 30, 2020 | देश/विदेश

सरकार करने जा रही है एक देश एक मतदाता सूची एक ही मतदाता सूची से पूरे देश में होंगे लोकसभा, विधानसभा और स्थानीय निकायों के चुनाव

दिल्ली: मोदी सरकार लोकसभा, विधानसभा एवं स्थानीय निकायों के चुनाव के लिए एक ही मतदाता सूची बनाने की संभावनाओं पर विचार कर रही है। इससे मतदाता सूचियों की विसंगति खत्म करने और उनमें एकरूपता लाने में मदद मिलेगी। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी।
एक ही मतदाता सूची से एकरूपता आएगी और खर्च भी कम होगा
संविधान में राज्यों को पंचायत एवं निकाय चुनावों के लिए अपने नियम बनाने का अधिकार दिया गया है। उन्हें यह भी अधिकार है कि वे अपने स्तर पर मतदाता सूची तैयार कराएं या विधानसभा चुनाव के लिए तैयार चुनाव आयोग की मतदाता सूची का प्रयोग करें।

अब केंद्र मोदी सरकार लोकसभा, विधानसभा एवं स्थानीय निकायों के लिए एक ही मतदाता सूची की संभावना तलाश रही है, जिससे एकरूपता भी आएगी और खर्च भी कम होगा।
मतदाता सूचियों में कोई विसंगति नहीं रहेगी
एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘सरकार विचार कर रही है कि क्या इन तीनों तरह के चुनाव के लिए एक ही मतदाता सूची हो सकती है? राज्यों को केंद्रीय मतदाता सूची को ही अपनाने के लिए राजी किया जा सकता है।’ एक अन्य अधिकारी ने कहा कि अलग-अलग मतदाता सूची होने के कारण एक ही काम पर दोहरा खर्च होता है। यह मतदाताओं के लिए भी अच्छा होगा क्योंकि मतदाता सूचियों में कोई विसंगति नहीं रहेगी। कई बार ऐसा देखने में आता है कि किसी व्यक्ति का एक मतदाता सूची में नाम होने के बाद भी दूसरी सूची में नाम नहीं होता है।
“चुनाव आयोग एवं कानून मंत्रालय के अधिकारियों से राय ले रही सरकार”
इस महीने की शुरुआत में प्रधानमंत्री कार्यालय ने इस संबंध में बैठक बुलाई थी, जिसमें कानून मंत्रालय एवं चुनाव आयोग के शीर्ष अधिकारियों से मौजूदा व्यवस्था एवं संभावनाओं पर राय मांगी गई।
चुनाव आयोग, विधि आयोग 1999 में एक मतदाता सूची की वकालत कर चुके हैं
चुनाव आयोग, विधि आयोग, कानूनी मामलों पर संसद की स्थायी समिति और कार्मिक मंत्रालय पहले भी कई मौकों पर एक मतदाता सूची की वकालत कर चुके हैं। नवंबर, 1999 में चुनाव आयोग ने सरकार को पत्र लिखकर कहा था कि चुनाव आयोग और राज्य चुनाव आयोगों की ओर से अलग-अलग मतदाता सूचियों से मतदाताओं के भी भ्रम की स्थिति बनती है। कई बार एक सूची में नाम होने पर भी दूसरी में नहीं होता।
एक ही काम के लिए नहीं होगा केंद्र एवं राज्य में अलग-अलग खर्च
एक ही काम के लिए दो बार आवेदन करना पड़ता है और पूरा खर्च भी दोगुना हो जाता है। संसदीय समिति ने कानून मंत्रालय के मांग एवं अनुदान (2016-17) की रिपोर्ट में चुनाव आयोग एवं राज्य चुनाव आयोगों की ओर से अलग-अलग मतदाता सूचियां बनाने का उल्लेख किया था। इसमें कहा गया था कि मतदाताओं का रजिस्ट्रेशन एवं अपडेशन अलग-अलग किया जाता है और सूचियों में मतदाताओं की संख्या भी भिन्न रहती है।
“अभी यह है व्यवस्था”
अभी लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव आयोग मतदाता सूची तैयार करता है। वहीं नगर निगम व पंचायत जैसे स्थानीय निकायों के चुनावों के लिए राज्य चुनाव आयोग अपने-अपने स्तर पर मतदाता सूचियां तैयार करते हैं। कई राज्य चुनाव आयोग अपनी मतदाता सूची बनाने के लिए चुनाव आयोग की ड्राफ्ट मतदाता सूची का इस्तेमाल करते हैं।

यह न्यूज जरूर पढे 

‘सीता’ के किरदार को लेकर करीना कपूर की बढ़ीं मुश्किलें, बजरंग दल ने चेतावनी देते हुए कहा- फिल्म बनी तो…

‘सीता’ के किरदार को लेकर करीना कपूर की बढ़ीं मुश्किलें, बजरंग दल ने चेतावनी देते हुए कहा- फिल्म बनी तो…

बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना कपूर खान अक्सर सुर्खियों में रहती हैं। कभी अपनी प्रोफेशनल लाइफ, तो कभी पर्सनल लाइफ को लेकर करीना चर्चा में रहती हैं। लेकिन इस बार उनकी आने वाली फिल्म और उसके किरदार को लेकर मसला गंभीर होता जा रहा है। इसी के साथ करीना विवादों में घिरती हुई नजर आ...

परशदेपुर: योगी सरकार के गड्ढामुक्त सड़कों के दावों की उड़ रही धज्जियां

परशदेपुर: योगी सरकार के गड्ढामुक्त सड़कों के दावों की उड़ रही धज्जियां

राजकुमाररायबरेली: उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की सड़को को गड्ढा मुक्त करने का निर्देश दिया था। लेकिन पीडब्ल्यूडी अधिकारियों की लापरवाही से अमेठी संसदीय क्षेत्र के सलोन विधासभा में सीएम योगी के दावों की धज्जियां उड़ रही...

अब मर्द भी हो सकते हैं प्रेग्नेंट! चीन के  वैज्ञानिकों ने कीया अजीबोगरीब रिसर्च

अब मर्द भी हो सकते हैं प्रेग्नेंट! चीन के वैज्ञानिकों ने कीया अजीबोगरीब रिसर्च

चीन के वैज्ञानिक अजीबोगरीब रिसर्च करते रहते हैं. बीते दिनों चीन के वुहान लैब से निकले एक वैज्ञानिक ने दावा किया था कि चीन अजीबोगरीब रिसर्च करते रहता है. वहां कई ऐसे रिसर्च किये जाते हैं जो आमतौर पर अन्य देशों में बैन है. इसी के बीच अब चीन के वैज्ञानिकों ने दावा किया...