26 साल बाद जीआरपी ने ढूंढ निकाला महिला का लोकल में चोरी हुआ सोने का चैन

by | Aug 29, 2020 | देश/विदेश

पिंकी ने बताया कि जब चैन चोरी हुई थी तब मैं 21 साल की थी आज जब चैन मिली है तब मैं 48 साल की हो गई हूं। मैंने कभी नही सोचा था कि मुझे मेरा चोरी हुआ चैन वापस मिलेगा। 

● राजेन्द्र एम. छीपा

मुंबई की लोकल ट्रेनों में सफर के दौरान यात्रियों के कीमती सामानो के चोरी होने के मामले सामने आते रहते हैं। पुलिस में शिकायत के बाद थक हार कर लोग खुद के कीमती सामानों के मिलने की उम्मीद छोड़ देते हैं। लेकिन जीआरपी ने 26 वर्ष बाद एक महिला का चोरी गया मंगलसूत्र उसे सौपकर बता दिया कि आप को उम्मीद छोड़ने की जरूरत नही है। पुलिस की जांच कभी बंद नही होती है। 

” यह है मामला “

 26 साल पहले लोकल ट्रेन में सफर के दौरान पिंकी सुनील डिकुना से चैन स्नैचिंग हुई थी। उनके साथ यह घटना चर्चगेट स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-4 पर हुई थी।इस संबंध में 21 वर्षीय पिंकी ने जीआरपी में 9 फरवरी 1994 को चैन चोरी होने की शिकायत दर्ज कराई थी। चैन स्नैचिंग की घटना के बाद जब पिंकी ने जीआरपी में शिकायत दर्ज कराई थी उस शिकायत के 70 दिन दिन बाद ही 18 अप्रैल 1994 को चोरी हुई 7 ग्राम सोने की चैन चोरी करनेवाले आरोपी को पकड़कर जीआरपी ने रिकवर कर लिया था। 

 मामले के जांच अधिकारी मिलिंद पाटिल ने बताया कि जीआरपी कमिश्नर रविंद्र सेनगांवकर ने एक आदेश जारी कर कहा था कि पुराने मामलों में रिकवरी हुई सामान शिकायतकर्ताओं का घर खोज कर लौटाया जाए। इसके बाद जब पिकी की फ़ाइल सामने आई तो केवल घर का पता मिला। क्योंकि उस समय किसी के पास मोबाईल फ़ोन नही था। शिकायतकर्ताओं को अपने सामानों की रिकवरी के लिए पुलिस स्टेशन में समय समय पर आना पड़ता था। जीआरपी को पिंकी का वसई रोड का पता मिला। जब पुलिस वहां गई तो घर बंद था। पूछताछ करने पर पिंकी के एक पड़ोसी का पता मिला।जिसके बाद पिंकी के भाई से संपर्क किया गया और पिंकी को उसका चोरी हुई 7 ग्राम सोने की चैन लौटा दी गई।

” पिंकी ने कहा जीआरपी जिंदाबाद “

36 वर्ष पहले चोरी हुई चैन पाकर पिंकी का खुशी का ठिकाना नही रहा। पिंकी का चैन 9 फरवरी 1994 को चोरी हुआ था और 22 अगस्त 2020 को मिल गया। 

पिंकी ने बताया कि जब चैन चोरी हुई थी तब मैं 21 साल की थी आज जब चैन मिली है तब मैं 48 साल की हो गई हूं। मैंने कभी नही सोचा था कि मुझे मेरा चोरी हुआ चैन वापस मिलेगा। मैंने उम्मीद कब की छोड़ दी थी। उन्होंने जीआरपी जिंदाबाद कहते हुए पुलिस और कमिश्नर को धन्यवाद दिया है।

यह न्यूज जरूर पढे 

गुड़ न्यूज़ : 15 हजार से कम सैलेरी वाले कामगारों को मिलेगा आयुष्मान भारत योजना का लाभ,जानिए कौन ले सकता है इसका लाभ,कैसे करना है रजिस्ट्रेशन

गुड़ न्यूज़ : 15 हजार से कम सैलेरी वाले कामगारों को मिलेगा आयुष्मान भारत योजना का लाभ,जानिए कौन ले सकता है इसका लाभ,कैसे करना है रजिस्ट्रेशन

अगर आप असंगठित क्षेत्र के कामगार हैं और आपकी मासिक आय 15 हजार रुपये से कम हो तो आपके लिए खुशखबरी है.आप ई-श्रम पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं. इससे किसी भी दुर्घटना व बीमारी के दौरान खर्च की चिंताओं से मुक्त हो सकते हैं. ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण के बाद कामगार...

पालघर/ठाणे: पुलिस भर्ती परीक्षा में नकल करते पकड़े गए पांच ‘मुन्नाभाई’

पालघर/ठाणे: पुलिस भर्ती परीक्षा में नकल करते पकड़े गए पांच ‘मुन्नाभाई’

महाराष्ट्र के ठाणे शहर में पुलिस भर्ती परीक्षा में नकल करने और अन्य आरोपों में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि ठाणे और पड़ोसी पालघर जिले में पुलिस में चालक पद के लिए रविवार को लिखित परीक्षा थी। ठाणे में लगभग 18,000 लोगों ने...

परशदेपुर: गरीबों के हक पर खुलेआम डाका,जरूरतमंदों को नहीं मिल रहा पीएम आवास योजना का लाभ

परशदेपुर: गरीबों के हक पर खुलेआम डाका,जरूरतमंदों को नहीं मिल रहा पीएम आवास योजना का लाभ

राजकुमार रायबरेली. सरकार ने इस उम्मीद के साथ प्रधानमंत्री आवास योजना शुरू की थी कि 2022 तक प्रत्येक गरीब व पात्र व्यक्ति को सिर पर पक्की छत हो। लेकिन आज भी गरीब व पात्र व्यक्ति योजना का लाभ लेने के लिए सरकारी दफ्तर के चक्कर काट रहे हैं। वहीं अमीर व प्रभावशाली लोग इसका...