सुबर्नो, सुरभि, आरना, देव तथा वेदिका बने कलांतर 2020, राष्ट्रिय ऑनलाइन पेंटिंग प्रतियोगिता के विजेता

by | Oct 4, 2020 | देश/विदेश

आवास तथा शहरी मामले मंत्रालय तथा राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के सहयोग से कलांतर आर्ट ट्रस्ट द्वारा आयोजित राष्ट्रीय पेंटिंग प्रतियोगिता कलांतर २०२० का १ अक्टूबर, २०२० को समापन हो गया। १५ दिन तक चली इस प्रतियोगिता में देश भर से करीब २७ हजार लोगों ने पंजीकरण कराया तथा ९३६९ प्रतियोगियों ने समय से अपनी प्रविष्टियां जमा की। स्वच्छ भारत मिशन – अर्बन द्वारा देश भर के स्थानीय नगर निकायों को इस प्रतियोगिता में सम्मिलित होने के लिए निर्देश दिए गए थे जिसके फलस्वरूप देश के विभिन्न भाग से लोग सम्मिलित हुए। राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के द्वारा भी अपने क्षेत्रीय कार्यालय को निर्देश दिए गए थे जिसने प्रतियोगियों की संख्या और अधिक हो गयी। इसी क्रम में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद् द्वारा भी विद्यालयों को कलांतर २०२० में सम्मिलित होने के निर्देश दिए गए जिससे विद्यालयों ने प्रतियोगिता में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया।

प्रतियोगिता को दो चरण में संपन्न कराया गया। प्रथम चरण में प्रतियोगियों को अपनी प्रविष्टियां कलांतर के वेब ऐप तथा मोबाइल ऐप के माध्यम से जमा करनी थी। ५ भिन्न आयु वर्ग में प्रथम चरण में आयी प्रविष्टियों में प्रत्येक से ज्यूरी के निर्णय के आधार पर सर्वोच्च २० प्रविष्टियों को दूसरे चरण की प्रतियोगिता के लिए चयनित किया गया। इन सभी प्रतियोगियों की वर्चुअल प्लेटफार्म पर लाइव प्रतियोगिता करवाई गयी। दूसरे चरण में विषय भी प्रतियोगिता आरम्भ होने के समय ही बताया गया। कलांतर आर्ट ट्रस्ट के आई टी सेल के संयोजक श्री अशोक गुप्ता ने बताया कि इस पूरी प्रक्रिया में करीब ३० दिन लगे। अशोक के अनुसार कलांतर आर्ट ट्रस्ट द्वारा जारी की गयी वेब तथा मोबाइल ऐप ऐसी किसी भी राष्ट्रीय तथा अंतर-राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता को करने में सक्षम है जिसमें ५-१० लाख तक प्रविष्टियां भी अत्यंत आसानी से दर्ज की जा सकती हैं।

कलांतर २०२० के अंतिम विजेताओं की घोषणा २ अक्टूबर गाँधी जयंती के दिन कलांतर आर्ट ट्रस्ट के अध्यक्ष श्री विशाल श्रीवास्तव के द्वारा फेसबुक लाइव के माध्यम से की गयी। प्रतियोगिता में प्रोफेशनल आर्टिस्ट वर्ग में सुबर्नो रॉय प्रथम रहे। १४-१८ वर्ष आयु वर्ग में सुरभि अरोरा प्रथम रहीं। १०-१४ वर्ष आयु वर्ग में आरना दत्ता ने प्रथम पुरस्कार जीता। ७-१० वर्ष आयु वर्ग में देव सनोरिआ ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। ५-७ वर्ष आयु वर्ग में वेदिका केसवानी प्रथम रहीं। उत्तर प्रदेश को सबसे अधिक प्रतियोगियों को प्रोत्साहित कर प्रतियोगिता में सम्मिलित कराने वाले राज्य के लिए पुरस्कार हुआ। महाराष्ट्र के ठाणे को सबसे अधिक प्रविष्टियां देने वाले जिले का पुरस्कार प्राप्त हुआ। प्रतियोगिता के स्पांसर इन्सोल आर्ट्स की ओर से अधिकतम पब्लिक वोट प्राप्त करने वाले प्रतियोगी आस्था शर्मा को विशेष पुरस्कार देने की घोषणा की गयी। वहीँ को-स्पांसर सीम सोलूशन्स की ओर से भी एक विशेष पुरस्कार ऐसे प्रतियोगी को देने की घोषणा की गयी जिसके भीतर कला को लेकर इतना लगाव है की उसने दिए गए सभी चार विषयों पर पेंटिंग बना कर भेजीं। इस प्रतियोगी का नाम मिलिंद सुर्वे है।

कार्यक्रम के अंत में संस्था के अध्यक्ष श्री विशाल श्रीवास्तव ने कलांतर २०२० के इवेंट पार्टनर श्री दुर्गा शंकर मिश्रा, सचिव, शहरी तथा आवास मामले मंत्रालय, श्री राजीव रंजन मिश्रा, महानिदेशक, राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन, श्री मनोज आहूजा, अध्यक्ष, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद्, श्री बिनय झा, निदेशक, स्वच्छ भारत मिशन अर्बन, श्री नजीब अहसान, सलाहकार, नमामि गंगे, श्रीमती पूजा श्रीवास्तव, क्रिएटिव हेड, इन्सोल, श्री राजेश श्रीवास्तव, प्रबंध निदेशक, सीम सोल्यूशंस को धन्यवाद् प्रेषित किया। श्री श्रीवास्तव ने ज्यूरी के सभी सदस्यों का भी धन्यवाद् किया जिनमें श्रीमति कल्पना सेठी, श्री अजय समीर, श्रीमति नूपुर कुंडू, श्री पंकज पंवार, श्री एम् एस मूर्ति मुख्य हैं। प्रतियोगिता में सहयोग करने वाले सभी स्वयंसेवियों का भी श्री श्रीवास्तव ने धन्यवाद् किया जिनमें मुंबई के श्री हरी नारायण सेवा संस्थान के संस्थापक योगाचार्य श्री भारत भूषण ‘भारतेन्दु’, पारुल, अन्तरा, लहर, शाम्भवी, वामिका आदि के योगदान सराहनीय रहे। अंत में श्री विशाल श्रीवास्तव ने सभी प्रतियोगियों तथा उनके अभिवावकों, शिक्षकों आदि को हृदय से धन्यवाद् दिया जिनकी प्रतिभागिता से कलांतर २०२० का प्रारूप इतना वृहद् हो सका।

प्रतियोगिता के समापन के दौरान श्री विशाल श्रीवास्तव ने अपील की कि कला के प्रयोग से समाज में बहुत बड़ा बदलाव लाया जा सकता है अतः हम सभी स्वयं भी अपने भीतर छिपी कला को ढूंढें और उसे अपने मन की भावनाओं को व्यक्त करने में प्रयोग करें। उन्होंने यह भी कहा कि कला का प्रयोग हम न सिर्फ अपने लिए करें बल्कि हमारे आस पास के असमर्थ बच्चों को भी कला के प्रयोग के लिए प्रेरित करें। श्री श्रीवास्तव ने घोषणा की कि शीघ्र ही कलांतर आर्ट ट्रस्ट सरकारी विद्यालयों के साथ मिलकर एक साथ १०१ निःशुल्क कला प्रशिक्षण केंद्र स्थापित करेगी जो आर्थिक रूप से असमर्थ बच्चों को कला के क्षेत्र में प्रोत्साहन देने का एक अनूठा प्रयोग होगा।

यह न्यूज जरूर पढे 

पालघर में गांजा की तस्करी करने वाले गैंग का पर्दाफाश,नशे के तीन कुख्यात सौदागार गिरफ्तार

पालघर में गांजा की तस्करी करने वाले गैंग का पर्दाफाश,नशे के तीन कुख्यात सौदागार गिरफ्तार

हेडलाइंस18वसई.पालघर जिले में बड़े पैमाने पर गांजा की तस्करी हो रही है। लेकिन अब पुलिस ने भी इन नशे के सौदागरों के विरुद्ध कमर कस ली है। विरार पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने अलग-अलग कार्यवाही कर तीन गांजा तस्करों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से करीब 74 हजार का माल जप्त...

कांग्रेस नेता व छत्तीसगढ़ की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री ने महिलाओं को दी सलाह : थोड़ी थोड़ी पीकर सो जाया करो,चुनाव से पहले खाई थी शराबबंदी की कसम,देखे video

कांग्रेस नेता व छत्तीसगढ़ की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री ने महिलाओं को दी सलाह : थोड़ी थोड़ी पीकर सो जाया करो,चुनाव से पहले खाई थी शराबबंदी की कसम,देखे video

छत्तीसगढ़ सरकार एक ओर जहाँ शराबबंदी की तैयारी कर रही है, वहीं मंत्री अनिला भेड़िया लोगों को एक-एक पेग लगाने सलाह दे रही हैं।छत्तीसगढ़ सरकार एक ओर जहाँ शराबबंदी की तैयारी कर रही है, वहीं दूसरी ओर भूपेश बघेल सरकार की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री अनिला भेड़िया लोगों को...

जिला परिषद और पंचायत समिति के चुनाव में जीरो पर क्लीन बोल्ड होने वाली पालघर कांग्रेस पर टूट पड़ा मुसीबतों का पहाड़,पढ़े पूरी खबर

जिला परिषद और पंचायत समिति के चुनाव में जीरो पर क्लीन बोल्ड होने वाली पालघर कांग्रेस पर टूट पड़ा मुसीबतों का पहाड़,पढ़े पूरी खबर

हेडलाइंस18पालघर में हाल ही में संपन्न हुए उपचुनावों में बड़ी हार के बाद कांग्रेस में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। जिला कांग्रेस कमेटी के कुछ नेताओं का दावा है,कि कांग्रेस में उनकी सुनी नही जा रही है। जिससे मजबूरन नेताओं और कार्यकर्ताओं सहित करीब 300 लोग जल्द पार्टी छोड़...