पालघर में जोशीमठ जैसे हालात, हाइवे बनाने के लिए की जा रही ब्लास्टिंग से दर्जनों घरों में दरारें,खौफ के साए में जीने को मजबूर लोग

by | Jan 17, 2023 | देश/विदेश, पालघर, महाराष्ट्र, मुंबई, वसई विरार

हेडलाइंस 18

जोशीमठ को लेकर इस समय पूरे देश में खूब हो हल्ला मच रहा है। वहां की जमीन लगातार धंस रही है, जिसकी वजह से वहां के घरों में दरारें पड़ रही हैं। ये दरारें इतनी भयावह हैं कि अब लोग अपना घर छोड़ने पर मजबूर हो गए हैं। इसी तरह पालघर के वसई तालुका के एक गांव में 25 घरों में दरार आ गई है। जिससे ग्रामीण दहशत में है। ग्रामीणों ने निवासी उपजिलाधिकारी किरण महाजन को ज्ञापन देकर तत्काल दोषियों पर कड़ी कार्यवाही की मांग की है। ग्रामीणों ने सरकार से मांग की है कि य तो हमे जीने दो य तो मरने दो। मिली जानकारी के मुताबिक खरड़ी के सारोंडेपाड़ा, शेलडोंगरी गांव में रहने वाले लोगों के 25 घरों में खतरनाक दरार आ गई है। जिससे इन गांव के लोग खौफ के साए में जी रहे है। आरोप है कि मुंबई बड़ौदा एक्सप्रेसवे बनाने वाली कंपनी

पहाड़ियों में ब्लॉस्ट कर रही है। जिससे आस पास के इलाके में स्थित घरों में दरारे आ रही है।

कुंभकर्णी नींद में सोए अधिकारी

ग्रामीणों का आरोप है,कि घरों में पड़ रही दरारों की शिकायते वह लगातार अधिकारियों से कर रहे है। लेकिन वह कुंभकर्णी नींद में सोए हुए है जिससे दोषियों पर कोई कार्यवाही नही हो रही है। और सैकड़ों लोगों को जान माल खतरा पैदा हो गया है। ग्रामीण नलिनी माली,बेबी माली,कुंता माली,गुलाब भोईर सविता भोईर,रघुनाथ भोईर का कहना है, कि
एक्सप्रेस वे के निर्माण के लिए होने वाली जबरजस्त ब्लास्टिंग आस पास के गांवों में रहने वालों के लिए मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ा है। उनका कहना था,कि हम सभी गरीब है पूरे जीवन की जमा पूंजी के नाम पर सिर्फ हमारे पास एक घर ही है। लेकिन वह भी अब खतरे में है।
विकास के नाम पर हमारा विनाश किया जा रहा है। मौके पर संघर्ष संघटना की अध्यक्षा सुमन मानकर सहित सचिव आरबी सिंह तालुका अध्यक्ष सुषमा घरत निलेश पाटील आदि मौजूद रहे है।

बेलगाम ब्लास्टिंग से यहां के लोगो का जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। ब्लास्टिंग को रोका नही गया तो यह जानलेवा साबित होगी। मामले में अधिकारियों को ज्ञापन देकर कार्यवाही की मांग की गई है। कार्यवाही न होने पर ग्रामीण आंदोलन को बाध्य होंगे।

सुमन मानकर, अध्यक्षा संघर्ष संघटना महाराष्ट्र

ग्रामीणों के घरों में आ रही दरारों की जांच के लिए टीम का गठन किया गया है। रिपोर्ट मिलने के बाद दोषियों पर कार्यवाही की जाएगी।

किरण महाजन,निवासी उपजिलाधिकारी पालघर

यह न्यूज जरूर पढे