Palghar | फर्जी सेवा की आड़ में आस्था से खिलवाड़ कर आदिवासियों के धर्म परिवर्तन का चल रहा गंदा खेल

by | Jan 5, 2023 | पालघर, महाराष्ट्र, वसई विरार

आदिवासियों की सभ्यता संस्कृति को निशाना बना रही मिशनरिया

पालघर जिले के ग्रामीण इलाकों में आदिवासियों का धर्म परिवर्तन करवा कर ईसाई बनाने का सिलसिला थम नहीं रहा है। पैसों के लालच और ब्रेन वाश के जरिए ईसाई मिशनरी आदिवासियों का धर्म परिवर्तन करवाने में जुटी है। ईसाई धर्म का प्रचार करने वाले लोग लगातार आदिवासियों के गांव- गांव में में घूम रहे हैं।

गरीब परिवारों का धर्म परिवर्तन

हिंदुत्वादी नेताओं का कहना है, पालघर कितना असुरक्षित है, धर्मांतरण से इसका पता चलता है। ग्रामीण इलाकों में लगातार धर्मांतरण का गंदा खेल खेला जा रहा है। मिशनरियों द्वारा गरीब आदिवासी परिवारों का धर्म परिवर्तन करवाया जा रहा है। पालघर के आदिवासी बाहुल्य ग्रामीण भागों दहानू,तलासरी, जैसे इलाकों में आदिवासियों का धर्म परिवर्तन करवाने का सिलसिला तेजी से जारी है। देवी-देवताओं की मृर्तियां तोड़ने अथवा फेंकने के लिए कहा जाता है। खुद को मिशनरी मंडली बताने वाले लोग मूर्ति पूजा को खत्म करने, हिंदू देवी-देवताओं को नहीं मानने एवं व्रत नहीं करने को लेकर ग्रामीण इलाकों में लोगों को भड़का रहे हैं। कही एक कमरे में तो कहीं खुले मैदान में प्रार्थना सभा कर देवी-देवताओं की पूजा न करने के लिए आदिवासियों से कहा जा रहा है। जिले के आलाधिकारियों को इसकी जानकारी नहीं ऐसा नहीं है। हिंदूवादी नेता लगातार इसकी शिकायत अधिकारियों से कर धर्मांतरण पर रोक लगाने की मांग कर रहे है। लेकिन कोई कार्यवाही नही हो रही है।
ज्ञात होगा कि कुछ महीने पूर्व दहानू में राष्ट्रीय हिन्दू सेवा संघ के कार्यकर्ताओं ने मिशनरी के कुछ सदस्यों को धर्म परिवर्तन कराते रंगों हाथ भी पकड़ा था ।

करेंगे आंदोलन

जनजातीय सुरक्षा मंच कोकण के प्रांत संयोजक विवेक कर्मोडा ने कहा कि पालघर के ग्रामीण इलाकों में ईसाई मिशनरी जिस तरह से धर्मांतरण का काम कर रहे हैं इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कई छोटे छोटे गांव के लगभग सभी लोग धर्म परिवर्तन कर ईसाई बन चुके है।आदिवासी समुदाय पर मिशनरियों का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। वो लोग भोले-भाले आदिवासियों को बहलाकर ईसाई धर्म अपनाने पर मजबूर कर रहे हैं।ईसाई मिशनरियों के धर्मांतरण के खेल को पूरी योजना के साथ अंजाम दिया जा रहा है। जो गांव वाले धर्मांतरण का विरोध कर रहे हैं उन्हें सामाजिक बहिष्कार और धमकी भी दी जा रही है।

यह न्यूज जरूर पढे