पालघर में फिर हुई दिल दहला देने वाली घटना, गर्भवती महिला को समय पर नहीं मिला इलाज, जुड़वां बच्चों की मौत

by | Aug 16, 2022 | पालघर, महाराष्ट्र

पालघर : एक तरफ पूरा देश आजादी के अमृत महोत्सव के जश्न में डूबा हुआ था, लेकिन दूसरी तरफ पालघर ग्रामीण इलाकों में बुनियादी सुविधाओं से वंशीत ग्रामीण क्षेत्र से हैरान कर देने वाली तस्वीर सामने आई.वैसे यह पहला वाक्या नही है इस तरह की घटनाओं को मीडिया ने कई बार उजागर की है पर समस्या ज्यो की त्यों ही बनी हुई है । पालघर में पहाड़ी क्षेत्र में आज भी कई गांव सड़क मार्ग से जुड़े हुए नहीं है, जिसके चलते गर्भवती महिला वंदना बुधर को मौत से लड़ना पड़ा ,मोखाडा तालुका के मर्कटवाड़ी की गर्भवती मां वंदना बुधर ने 2 जुड़वां बच्चों को जन्म दिया। लेकिन दुर्भाग्य से दोनों बच्चों की मौत हो गई है। ज्यादा रक्तस्राव होने से महिला की हालत बिगड़ गई उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। 108 को फोन किया गया लेकिन गांव को जोड़ने वाली सड़क नहीं होने के कारण एंबुलेंस गांव नहीं पहुंच सकी।

वंदना के परिवार ने डोली के सहारे वंदना को अस्पताल में भर्ती कराया. मुख्य सड़क तक पहुंचने के लिए परिवार को वंदना को डोली में लेकर 3 किलोमीटर पैदल चलना पड़ा। रास्ता खतरनाक होने के कारण वंदना के परिवार वालों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। इस वीडियो के सामने आने के बाद पालघर के ग्रामीण इलाकों की दर्दनाक हकीकत एक बार फिर सामने आ गई है.

इस घटना में प्रसव के बाद ज्यादा रक्तस्राव होने से महिला की हालत बिगड़ गई , ग्रामीणों ने उसे उठाकर सीधे पहाड़ की घाटी कपारी होते हुए मुख्य मार्ग पर 3 किमी तक लाया, जहां से उसे एंबुलेंस से खोडाला उपकेंद्र में भर्ती कराया गया, उसका इलाज चल रहा है.

मोखाड़ा से 30 से 35 किमी की दूरी पर पहाड़ियों में स्थित गांवो में सड़क नहीं होने से मौत का सामना करना पड़ रहा है। पूर्व में भी इस गांव में समय पर इलाज के अभाव में मरीजों की जान जा चुकी है. इस बीच कलेक्टर गोविंद बोडके ने 2 अगस्त को इस गांव का निरीक्षण किया था और उन्होंने इस गांव में तत्काल सड़क स्वीकृत करने का आदेश दिया है.

यह न्यूज जरूर पढे