यूपी : ज्ञानवापी मज्जिद में सर्वे का पहला दिन खत्म,तहखाने में जो मिला वो कल्पना से परे,त्रिशूल, मूर्ति,स्वस्तिक,कमल व कलश बरामद : सूत्र

by | May 14, 2022 | उत्तर प्रदेश, लखनऊ

यूपी में ज्ञानवापी मस्जिद के तहखाने में ढेर सारे खंभेनुमा पत्थर, मूर्ति और कलश बरामद हुए हैं,प्रांगण में नंदी की मूर्ति भी : सूत्र

शनिवार को चार तहखानों का सर्वे हुआ और अभी कई और तहखाने खोले जाने बाकी हैं।
एक खंडित मूर्ति भी मिली है और इसकी दीवारों पर कमल और स्वास्तिक के निशान मिलने की जानकारी हैं: सूत्र

यूपी के वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का सर्वे-वीडियोग्राफी कार्य शनिवार सुबह कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच फिर से एक बार शुरू हो गया।

यहां मस्जिद परिसर के तहखानों की वीडियोग्राफी के लिए विशेष लाइट और कैमरे की व्यवस्था की गई है. अधिकारियों ने बताया कि सर्वे टीम में मुकदमे के वादी, प्रतिवादी, उससे जुड़े अधिवक्ता, अधिवक्ता आयुक्त और सहायक अधिवक्ता आयुक्त शामिल हैं.

खबर इंडिया के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार अधिकारियों ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सर्वे का काम रविवार को भी जारी रहेगा। इस बीच यह खबर सामने आ रही है कि ज्ञानवापी मस्जिद के तहखाने में ढेर सारे खंभेनुमा पत्थर, मूर्ति और कलश बरामद हुए हैं। आज 4 तहखानों का सर्वे हुआ और अभी कई और तहखाने खोले जाने बाकी हैं।

जानकारी निकल कर आ रही है कि मस्जिद के तहखाने के अंदर सफाईकर्मी गए थे। वहां गौरी श्रृंगार मंदिर की जैसी तस्वीरें हैं, वह वैसा ही मिला है। उसके स्वरूप में कोई बदलाव नहीं आया है। तहखाने के अंदर एक खंडित मूर्ति भी मिली है और इसकी दीवारों पर कमल और स्वास्तिक के निशान मिले हैं। प्राचीन शिलाएं,खंडित मूर्तिया ,दीवारों पर नाग और स्वान की कलाकृति भी मिली है, एक तहखाने में ताला लगा हुआ था, तो ताले को तोड़कर वीडियोग्राफी सर्वे का काम किया गया। तहखाने में मूर्ति और ढेर सारे कलश मिले हैं। 2 फुट की संगमरमर की बनी एक मगरमच्छ की मूर्ति भी मिली है। मूर्ति को ढंककर रखा गया था और यह आज भी काफी खूबसूरत है। एक मीडिया रिपोर्ट में बताया गया कि वहा प्रांगण में नंदी की भी मूर्ति मिली है ।

इस तहखाने में कई खंभेनुमा पत्थर रखे गए हैं जो कम से कम 3 ट्रक होंगे। तहखाने के खंभे में मूर्ति भी बनी हुई है। मस्जिद में एक भी आदमी मौजूद नहीं था और रविवार को सर्वे का काम पूरा कर लिया जाएगा। बता दें कि शनिवार को 1500 से से भी ज्यादा पुलिसकर्मियों और PAC के जवानों को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर की सुरक्षा में तैनात किया गया था। इसके अलावा ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के 500 मीटर के दायरे में लोगों की आवाजाही रोक दी गई थी।

बता दें कि कि वाराणसी की कोर्ट ने ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी परिसर का सर्वे-वीडियोग्राफी कार्य कराने के लिए नियुक्त अधिवक्ता अयुक्त अजय मिश्रा को पक्षपात के आरोप में हटाने की मांग से जुड़ी याचिका गुरुवार को खारिज कर दी थी और साफ किया था कि ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर भी वीडियोग्राफी कराई जाएगी। दीवानी कोर्ट के जज सीनियर डिवीजन) दिवाकर ने विशाल सिंह को विशेष अधिवक्ता आयुक्त और अजय प्रताप सिंह को सहायक अधिवक्ता आयुक्त के तौर पर नियुक्त किया था। उन्होंने पूरे मज्जिद परिसर की वीडियोग्राफी करके 17 मई तक रिपोर्ट पेश करने के निर्देश भी दिए थे।

यह न्यूज जरूर पढे