निजी बसों को प्रशासन ने दी लूट की छूट

by | May 4, 2022 | उत्तर प्रदेश, रायबरेली

कामतानाथ सिंह
रायबरेली। नसीराबाद और डीह थाना क्षेत्रों में अवैध प्रपत्रों के सहारे फर्राटा भरने वाली लग्जरी बसें जहां सरकार के राजस्व को हानि पहुंचा रही हैं वहीं यात्रियों का सामान भी लूट ले रही हैं! बुकिंग के परमिट पर फुटकर सवारियां भरने वाली इन बसों से लोगों के पैसे और जेवरात गायब हो रहे हैं।


परशदेपुर चौकी के अंतर्गत ग्राम त्रिलोकपुर मजरे अटावां की तारा देवी ने बताया कि वह अपने बच्चों के साथ कुरुक्षेत्र से बरखुरदरपुर बहन की लड़की की शादी में शामिल होने साहिल नाम की बस संख्या DT 0 868 से आ रही थी। रात्रि में बस कंडक्टर ने हमारे पास के चारों बैग को ले लिया जिसमें ₹60000 भी एक बैग में रखा था। परशदेपुर में जब वह लोग बस से उतरे तो उनका तीन बैग मिला और चौथा बैग जिसमें ₹60000 और काफी सामान था वह गायब हो गया।


बस को रोकना चाहा तो ड्राइवर बस लेकर भागा किन्तु सूचना पाते ही चौकी परशदेपुर पुलिस ने आनन-फानन में बस को पकड़कर सीज कर दिया। चौकी इंचार्ज निखलेश कुमार ने बताया कि अबैध प्रपत्र के चलते गाड़ी को सीज कर दिया गया। गौरतलब हो कि अभी हाल ही में 11.04.2022 को भी एक बस पर जबरन पैसे वसूलने का मामला सामने आया था। जो भी टूरिस्ट लग्जरी बसें चल रही है इनमें अधिकांश पर लड़की कन्डक्टर रहती हैं और सवारियों को फंसा देने की धमकी देती हैं, जिससे लोग डरकर मुंह खोलने को तैयार नहीं होते। बगैर परमिट की चल रही बसों में हमेशा आयेदिन लफड़ा होता रहता है, सरकारी राजस्व को हानि होती है किन्तु प्रशासन मौन बना रहता है।

यह न्यूज जरूर पढे