बोईसर | खैरापाड़ा का मैदान बचाने के लिए सर्वदलीय व सामाजिक संस्थाओं का प्रतिनिधि मंडल मिला उधोग मंत्री से

by | Jan 24, 2022 | पालघर, महाराष्ट्र

बोईसर : तारापुर औधोगिक क्षेत्र में प्लॉट नंबर ओ.एस. 46/2 जो मैदान के लिए प्लॉट प्रस्तावित है। इस प्लॉट 51 हजार 319 वर्ग मीटर है। इस प्लॉट को 2010 और 2015 में एमआईडीसी तारापुर द्वारा डी डेकोर को बेचा गया था।

इसके विरोध में खैरापाड़ा, बोईसर, सरावली और आसपास के क्षेत्रों के लोगों ने व कई सामाजिक संगठनों सहित सभी राजनीतिक दलों ने एक जन आंदोलन शुरू किया है. जिस संदर्भ में बोईसर विधायक राजेश पाटिल के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल राज्य के उधोग मंत्री सुभाष देसाई साहब से चर्चा कर इस मैदान को बचाने के लिए ज्ञापन दिया ।

उन्होंने जनभावना के सम्मान में मैदान के आरक्षण का आदेश दिया था। परन्तु इस आरक्षित प्लॉट को फिर से एमआईडीसी. के माध्यम से बिक्री की जानकारी मिलने के बाद इलाके में आक्रोश का माहौल है। यह भूखंड बोईसर समेत आसपास के क्षेत्र की आत्मा है।

तारापुर औधोगिक क्षेत्र में खुली सांस लेने के लिए यही एकमात्र मैदान बचा है। यहां प्रतिदिन युवा खेल के माध्यम से अपनी सेहत को दुरुस्त रख रहे हैं। हालांकि, भूमिपुत्र की भावनाओं पर विचार किए बिना प्लॉट को डी डेकोर कंपनी को बेच दिया गया है।

इस जमीन को बचाने के लिए सामाजिक संगठन और क्षेत्र के सभी राजनीतिक दल एक साथ आए। बोईसर विधायक राजेश पाटिल ने उद्योग मंत्री सुभाष देसाई से चर्चा के दौरान कहा की एमआईडीसी के अधिकारी झूठी सूचना देकर मंत्री को गुमराह करने की कोशिश कर रहे है ।

उधोग मंत्री देसाई ने प्रतिनिधि मंडल को आश्वासन दिया कि जल्द ही एमआईडीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के साथ बैठक कर कोई रास्ता निकाला जाएगा।

इस प्रतिनिधिमंडल में जनजातीय एकता परिषद कालूराम काका,बांधकाम सभापति शीतलताई धोड़ी,शिवसेना नेता कुंदन संखे,नीलम संखे, मुकेश पाटिल, भाजपा के अशोक वडे, प्रशांत संखे,वैशाली सादुलवाड़,बहुजन विकास अघाड़ी के नितिन भोईर, खैरेपाड़ा ग्राम पंचायत सरपंच भावना धोड़ी,उपसरपंच हितेश संखे, विवेक वडे, आरपीआई के सचिन लोखंडे, पत्रकार मोहन म्हात्रे शामिल थे ।

यह न्यूज जरूर पढे