पालघर | करोड़ो की बिजली चोरी के मामले में कंपनी मालिक द्वारा भुगतान व बिजली आपूर्ति बहाल को लेकर दी चुनौती याचिका को कोर्ट ने किया खारिज

by | Jan 15, 2022 | पालघर, महाराष्ट्र, वसई विरार

पालघर : बिजली चोरी के भुगतान को चुनौती देने वाली एक याचिका पर सुनवाई करते हुए वसई की एक अदालत ने डायमंड आइस फैक्ट्री की आंशिक राशि का भुगतान कर बिजली आपूर्ति बहाल करने की मांग वाली अर्जी खारिज कर दी है।
न्यायाधीश सुधीर देशपांडे ने 4 करोड़ 93 लाख 98 हजार 460 रुपए की राशि में से आधी राशि का भुगतान करने पर 48 घंटे के भीतर बिजली आपूर्ति बहाल करने का आदेश महावितरण को दिया है।
महावितरण के वसई मंडल अधीक्षक अभियंता राजेश सिंह चव्हाण की टीम ने 30 अक्टूबर, 2021 को माजीवली में डायमंड आइस फैक्ट्री में बिजली की चोरी का खुलासा किया था। फैक्ट्री में रिमोट कंट्रोल में सर्किट लगाकर 59 माह में 4 करोड़ 93 लाख 98 हजार 460 रुपए मूल्य की 27 लाख 48 हजार 364 यूनिट बिजली की चोरी की गई है।
विरार पुलिस थाने में फैक्ट्री संचालक के खिलाफ बिजली चोरी का भुगतान नहीं करने का मामला दर्ज होने के बाद बिजली आपूर्ति काट दी गयी थी। इसको लेकर आइस फैक्ट्री ने अदालत में चुनौती दी थी।
सुनवाई में देरी होने के कारण 8 लाख 54 हजार 860 रुपए भरकर बिजली आपूर्ति पूर्ववत करने की मांग की गई। जिला न्यायाधीश सुधीर देशपांडे ने बिजली आपूर्ति बहाल करने के आवेदन को खारिज कर दिया।

यह न्यूज जरूर पढे