खाद्य आपूर्ति अधिकारियों के संरक्षण में सरकारी राशन की कालाबाजारी शिकायतकर्ता का नाम कार्ड से गायब

by | Jan 14, 2022 | उत्तर प्रदेश, मिर्जापुर

शिवशंकर शुक्ल

मिर्जापुर / जनपद के नगर पालिका क्षेत्र अंतर्गत कृष्णा पुरी कॉलोनी निवासी महिलाओं ने जायसवाल कॉलोनी स्थित सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान नंबर 92 के दुकानदार राजेंद्र कुमार पांडेय के द्वारा कम राशन दिए जाने की शिकायत लिखित रूप से जिला पूर्ति अधिकारी उमेश चंद्र से की। कार्ड धारक सपना ने जिला पूर्ति अधिकारी को दिए पत्र में कहा है कि कोटेदार द्वारा 2 सालों से लगातार कम राशन मिल रहा है । ज्ञात हो कि बीते 3 जनवरी को पत्रकारों द्वारा जिलापूर्ती अधिकारी को फोन पर सूचना दिए जाने के बाद जांच हेतु आए थे उस समय दर्जनों कार्डधारक महिलाओं ने राशन कम मिलने की शिकायत की थी। जिलापूर्ती निरीक्षक ने उस समय आश्वासन दिया था कि कालाबाजारी बर्दाश्त नही की जाएगी और दोषी पाए जाने पर कार्रवाई होगी । परन्तु सरकारी राशन की कालाबाजारी करने वाले कोटेदार का मनोबल बढ़ाने हेतु रजिस्टर जांच हेतु ले जाने की बजाय पत्रकारों के आईडी कार्ड का मोबाइल से फोटो खींच कर लेगए ।शिकायत करता ने आरोप लगाया है कि दुकानदार के कहने पर शिकायत कर्ता का राशन कार्ड से नाम ही कटवा दिया गया। लाभार्थियों ने यह भी आरोप लगाया है कि खाद्य आपूर्ति अधिकारियों के संरक्षण में ही सरकारी अनाज की कालाबाजारी हो रही है । एक तरफ तो सरकार गरीबों के लिए इस महामारी के दौर में मुफ्त राशन की व्यवस्था करा रही है तो वहीं दूसरी तरफ कोटेदार द्वारा लाभार्थियों को उनके हक का राशन भी सही तरीके से नहीं बांटा जा रहा बल्कि गरीबों के अनाज पर सीधे डाका डाला जा रहा है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शिकायत मिलने पर तत्काल अधिकारी कोटेदार के यहां जाते है कार्रवाई की बाजय अपनी रिश्वत की आय में वृद्धि कराते है । कार्ड उपभोगताओं द्वारा प्रमाण देने के बावजूद कहते है जांच करेंगे या जांच जारी है । इस तरह सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानदारो द्वारा अधिकारी से मिल कर राशन की काला बाजारी खुलेआम कर रहे है । यह भी बताया जाता है कि मिर्जापुर जनपद में भ्रष्टाचारियो का ही प्रशासनिक विभाग पर कब्जा है।

यह न्यूज जरूर पढे