पालघर | ओमिक्रोन को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने कसी कमर, बूस्टर डोज और बच्चों के टीकाकरण की तैयारी पूरी

by | Jan 2, 2022 | पालघर, महाराष्ट्र

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के बढ़ते खतरे को देखते हुए सरकार 15 साल से 18 साल तक बच्चो के टीकाकरण और वैक्सीन के बूस्टर डोज देने की तैयारी में है। बूस्टर डोज और बच्चों के टीकाकरण को लेकर पालघर जिले में भी तैयारी पूरी कर ली गई है। फिलहाल यह बूस्टर डोज फ्रंटलाइन वर्कर्स एवं हेल्थ वर्कर्स के साथ-साथ 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को ही दिया जाएगा।

कोरोना की पहली और दूसरी लहर में अहम भूमिका निभाने वाले स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ-साथ फ्रंट लाइन वर्करों को बूस्टर डोज से प्रतिरक्षित करने की विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। ऐसे लोगों को ही बूस्टर डोज दी जाएगी। जो 60 साल की उम्र के है। और उन्हें दूसरी डोज लिए 9 महीने व 39 हप्ते का समय हो गया है।
जानकारों का कहना है,कि इस दौरान बूस्टर डोज लग जाएगा तो इम्युनिटी और बढ़ जाएगी और यही हेल्थ व फ्रंटलाइन वर्कर तीसरी लहर में निर्णायक भूमिका अदा करेंगे।

3 जनवरी से बच्चों को लगेगा टीका
ओमिक्रोन के खतरे के बीच सरकार ने बच्चों को कोराना का टीका लगाने की घोषणा कर दी है। पालघर जिले में बच्चों को टीकाकरण के लिए तैयारी हो गई है। फिलहाल 15 से 18 वर्ष के बच्चों को टारगेट किया गया है। इनकी संख्या 1 लाख 68 हजार के आसपास बताई जा रही है। बच्चों को सिर्फ कोवैक्सीन का विकल्प उपलब्ध होगा। इन सभी को टीकाकरण के लिए आधार कार्ड लाना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही वह सभी नियम लागू होंगे जो पहले से लागू हैं। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करके सभी को कोविन ऐप से जोड़ा जाएगा।

बच्चों के टीकाकरण अभियान को लेकर पालघर जिला प्रशासन और वसई-विरार मनपा ने जागरूकता अभियान शुरु किया है। इससे टीके को लेकर व्याप्त भ्रांतियां दूर होगी। कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट के खतरे के बीच बच्चों का टीकाकरण शुरू किए जाने की कई अभिभवाकों ने सराहना की है। लोगों से अपील की जा रही है,कि

ओमिक्रोन संक्रमण से बच्चों की सुरक्षा के लिए सरकार की ओर से की गई पहल सराहनीय है। माता- पिता को बगैर किसी भय के अपने बच्चों को इस संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए खुद से आगे बढ़ कर टीका लगवाना चाहिए। इसके लिए अपने पड़ोसी व दूसरे माता- पिता का भी हौसला बढ़ाए।

आंकड़े
● 15 से 18 साल तक के बच्चे 1 लाख 68 हजार 
● बूस्टर डोज लेने वाले वरिष्ठ नागरिक 1 लाख के लगभग
● फ्रंटलाइन वर्कर्स एवं हेल्थ वर्कर्स 60 हजार के आस-पास 
● स्वास्थ्य विभाग के पास कोवैक्सीन की 47 हजार व कोविड़सील्ड की डेढ़ लाख डोज उपलब्ध है। 

बच्चों के टीकाकरण के लिए तैयारी पूरी कर ली गई है। आश्रम स्कूलों और जिला परिषद के स्कूलों में टीकाकरण के लिए केंद्र बनाए गए है।

डॉक्टर मिलिंद चौहाण- जिला स्वास्थ्य विभाग

यह न्यूज जरूर पढे