विहिप-बजरंग दल की पालघर में होने वाली विराट हिंदू धर्मसभा में हिस्सा लेंगे हिंदुओ के फायरब्रांड नेता और ‘हिंदू रत्न’ टाइगर राजा सिंह,जानिए इनके रुतबे के बारे में …

by | Dec 26, 2021 | पालघर, महाराष्ट्र

पालघर : गीता जयंती के पावन पर्व पर विराट हिंदू धर्मसभा का भव्य आयोजन 27 दिसंबर को पालघर पश्चिम के लक्ष्मी नारायण मंदिर में शाम 4 बजे होने वाला है जिसमे मुख्य वक्ता व अथिति के रूप में देश के जाने माने विधायक व बेबाक बातों के लिए जाने वाले टी.राजसिंह लोध आ रहे है ।

जानिए कौन है टी.राजा सिंह

ठाकुर राजा सिंह लोध एक ऐसे नेता हैं जिनपर फेसबुक और इंस्टाग्राम ने बैन लगा कर उनकी प्रोफाइल तक को डिलीट कर दिया है। ट्विटर भी उनके कई पोस्ट डिलीट कर चुका है, लेकिन सोशल मीडिया हो या मेन स्ट्रीम, उनकी चर्चा कभी कम नहीं होती। जी हां, हम बात कर रहे हैं हैदराबाद के गोशामहल सीट के फायर ब्रांड राजनेता ठाकुर राजा सिंह लोध यानि टी राजा सिंह की। वे पूरे तेलंगाना में एकमात्र भाजपा विधायक हैं।

ठाकुर राजा सिंह का जन्म हैदराबाद के पुराने शहर स्थित धूलपेट में 15 अप्रैल 1978 को हुआ। उनके पिता ठाकुर नवल सिंह एक धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति थे औऱ उन्होंने धर्मग्रंथों व शास्त्रों के बारे में काफी ज्ञान दिया। बाल्यकाल से ही राजा सिंह में हिंदू धर्म के प्रति जानने की ललक हुई। वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ औऱ हिंदू वाहिनी से भी जुड़े। तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी का जनाधार कम था इसलिये वे शुरुआत में तेलगुदेशम पार्टी से जुड़े, लेकिन बाद में भाजपा में शामिल हो गये।

टी राजा सिंह अपने बेबाक बोलों के लिये न सिर्फ मीडिया बल्कि विरोधियों के निशाने पर भी रहे हैं। उनपर हेट स्पीच के साठ से भी अधिक मामले दर्ज हैं। उन्होंने एक बार मुस्लिम बहुल हैदराबाद ओल्ड सिटी को “मिनी पाकिस्तान” कहा था। जुलाई 2017 में पश्चिम बंगाल में तनाव पर उन्होंने हिंदू समुदाय से गुजरात की तर्ज पर जवाब देने की अपील की थी, तब उन्हें पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर की तर्ज पर “राउडी शीटर” रा नाम दिया था। वे बाग्लादेशी और पाकिस्तानी घुसपैठियों को शूट कर देने का बयान देकर भी काफी चर्चित रहे थे। उन्होंने अकबरुद्दीन ओवैसी के पंद्रह मिनट फोर्स हटाने के विवादास्पद बयान पर कहा था कि अगर उन्हे 15 साल भी दे दें, तो भी वे हिंदुओं को मिटा नहीं पायेंगे, बल्कि खुद मिट जायेंगे।

गोरक्षा को अपना परम कर्तव्य मानने वाले टी राजा सिंह इस मुद्दे पर भाजपा भी छोड़ चुके हैं। बाद में वे पार्टी में दोबारा शामिल हो गये। कई अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठनों ने उन्हें हिट लिस्ट में डाल रखा है, लेकिन वे इसे अपना सम्मान मानते हैं। उन्हें कई सार्वजनिक सम्मान और पुरस्कार भी मिल चुके हैं। हिंदू संतों के समुदाय ने उन्हें “हिंदू रत्न” की उपाधि दी है। पुणे के प्रताप गाड उत्सव समिति ने उन्हें वीर जीवन महल पुरस्कार दिया है। हैदराबाद के युवाओं ने उन्हें युवा रत्न की उपाधि दी है और वाइज मेन्स एसोसिएशन ने हिंदू हृदय सम्राट कहा है। हैदराबाद और तेलंगाना व आंध्र-प्रदेश के युवा उन्हें प्यार से टाइगर राजा भाई या भाई कहते हैं।

फेम इंडिया – एशिया पोस्ट “उम्दा विधायक सर्वे” में व्यक्तित्व, छवि, जनता से जुड़ाव, कार्यशैली, लोकप्रियता, विधानसभा में उपस्थिति और प्रश्न, बहस में हिस्सा, विधायक निधि का उपयोग व सामाजिक सहभागिता आदि 10 मुख्य मापदंडों पर किये गये सर्वे में गोशामहल विधानसभा क्षेत्र के विधायक टी राजा सिंह प्रभावशाली कैटगरी में प्रमुख स्थान पर हैं।

यह न्यूज जरूर पढे