अंतराष्ट्रीय तैराक शुभम वनमाली ने बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए तैराकी कर गेटवे से दहानू पहुँचे, स्वागत में उमड़े लोग

by | Dec 21, 2021 | देश/विदेश, पालघर, महाराष्ट्र, मुंबई, वसई विरार

हेडलाइंस18

अंतराष्ट्रीय तैराक और देश-विदेश के कई पुरस्कार से सम्मानित होने वाले शुभम वनमाली (25) मंगलवार को समुंदर में तैराकी कर दहानू के समुद्री तट पर पहुँचे। इस दौरान शुभम के स्वागत में हजारों लोग उमड़ पड़े और उनके इस अनोखे उपक्रम की प्रशंसा की है। शुभम ने भव्य स्वागत के लिए लोगों का आभार जताया। इस अवसर पर नगराध्यक्ष भरत राजपूत, एसडीएम आशिमा मित्तल, तहसीलदार अभिजीत देशमुख भी मौजूद रहे। शुभम वनमाली दहानू के कासा इलाके के रहने वाले है। उन्होंने पढ़ाई में कमजोर बच्चों को प्रोत्साहित करने के 17 दिसंबर से गेटवे से दहानू तक की 140 किमी की समुंदर में तैराकी शुरू की थी। शुभम वनमाली ने कहा कि वह पिछले महीने से इस अभियान का प्लान तैयार कर रहे थे। इसके लिए ग्रामीणों के प्रोत्साहन और प्रक्षिक्षको के सहयोग ने ऊर्जा का कार्य किया। शुभम के पिता धनंजय वनमाली ने कहा कि उनका तैराकी का अगला लक्ष्य समुंदर के रास्ते मुंबई से गोवा तक 410 किलोमीटर का होगा। 

इंग्लिश चैनल पार करने वाले सबसे कम उम्र के तैराक

दिग्गज तैराकों का सपना होता है कि वह एक दिन इंग्लिश चैनल में तैराकी करें। शुभम वनमाली ने इंग्लिश चैनल (इंग्लैंड से फ्रांस)  4 अगस्त 2014 को 12 घंटे 42 मिनट में पार कर उस वर्ष दुनिया के सबसे कम उम्र के पुरुष तैराक भी बने थे। इसी तरह जिब्राल्टर की जलडमरूमध्य (स्पेन से मोरक्को तक) 17 किमी की खाड़ी 14 अगस्त 2014 को 3 घंटे 16 मिनट में पार कर एशिया के सबसे तेज तैराक बने। शुभम ने तैराकी में ऐसे कई रिकार्ड बनाये है। शुभम वनमाली को महाराष्ट्र सरकार के सर्वोच्च शिव छत्रपति स्पोर्ट्स अवार्ड-2019 सहित कई पुरुस्कारों से सम्मानित किया गया है।

यह न्यूज जरूर पढे