पालघर : भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने औसत 40 दिन में एक आरोपी को रंगे हाथों पकड़ा..जिसमे से कुछ हुए बरी तो कुछ दोषी,किसी पर मुकदमा जारी तो कुछ लौटे काम पर

by | Dec 15, 2021 | ठाणे, पालघर, महाराष्ट्र, वसई विरार

पालघर : कई लोग समझते है कि रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़े जाने वालों को सजा दी जाती है, तो यह सोचना भी गलत है। वर्ष 2018 से 2021 के बीच ठाणे और पालघर रिश्वत विभाग ने 20 जाल बिछाकर 37 आरोपियों को पकड़ा।
पकड़े गए आरोपियों में से कुछ को दोषी ठहराया जा चुका है, कुछ को बरी कर दिया गया है और कुछ पर अभी भी मुकदमा चल रहा है। अदालत ने रिश्वत लेने वालों को बरी कर दिया और वे सरकारी सेवा में काम कर रहे हैं। तो जिन रिश्वत लेने वालों के मामले लंबित हैं, उन्हें भी सातवें वेतन का लाभ मिल रहा है.कुछ मामले पुलिस की लापरवाही के कारण भी लटके हुए हैं। इसलिए यदि कोई रिश्वत लेते हुए पकड़ा जाता हैं, तो उनको छह महीने आधी कीमत पर और उसके बाद पूरे वेतन के साथ काम करना होगा।
एक तरफ जहां पूरा देश कोरोना की जंग में अभी भी लगा हुआ है, वहीं देश में घूसखोरी और ब्लैकमेल की घटनाएं हो रही हैं. एक तरफ जहां पुलिस और डॉक्टर मोर्चे के कोरोना योद्धा बनकर सेवा कर रहे हैं, वहीं कुछ लोग पीड़ित के मजबूरी पर मक्खन लगा कर खा रहे हैं.
तालाबंदी के दौरान कारोबारियों को भी नुकसान हो रहा है। ऐसे समय में, हालांकि, सरकारी कर्मचारी बिना रिश्वत लिए या मांगे काम नहीं करते हैं। जहां पिछले दो साल से कोरोना की लहर चल रही है, वहीं अभी भी रिश्वतखोरी जारी है. खुलासा हुआ है कि अतिक्रमण विभाग व वार्ड लिपिक में वसई विरार नगर निगम सबसे आगे है. रिश्वत रोकथाम विभाग ने 2018 और 2021 के बीच वसई तालुका में ठाणे और पालघर रिश्वत विभाग में 20 जाल स्थापित किए हैं और 37 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

वर्ष 2018 – 6 मामले, 8 आरोपी
2) वर्ष 2019 – 7 मामले, 10 आरोपी
3) वर्ष 2020 – 4 मामले, 6 आरोपी
4) साल 2021 – 10 मामले, 13 आरोपी

रिश्वतखोरी निवारण विभाग से संपर्क करें यदि आपके पास भ्रष्टाचार के बारे में कोई जानकारी है या यदि आपको किसी लोक सेवक द्वारा रिश्वत मांगने की शिकायत है। ई-मेल dypacbpalghar@gmail.com, टोल फ्री नंबर – 1064, टेलीफोन नंबर – 02525 – 297297 और व्हाट्सएप नंबर – 9923346810, 8007290944

यह न्यूज जरूर पढे