पालघर के हर्ष चौधरी का अविष्कार,देश के लोगों को मिलेगा सस्ती बिजली का उपहार

by | Nov 23, 2021 | पालघर, महाराष्ट्र, वसई विरार

पालघर के विरार इलाके में रहने वाले एक छात्र ने देश मे कोयले की कमी और बिजली के संकट की खबर सुनकर समुंदर की लहरों से बिजली पैदा करने का सफल अविष्कार किया है। उनका यह प्रयोग आगे बढ़ा तो लोगों को काफी सस्ती बिजली मिलेगी। 16 वर्षीय हर्ष कुंजन एक शोधार्थी हैं। वह अपने पिता के साथ बोर्डी में अपनी बुआ के घर आये और उन्होंने यहां के समुंदर के तट पर लहरों से बिजली उत्पादन के लिए 4 मोटरों का उपयोग किया। जिससे 48 बोल्ट डीसी करंट मिला। डीसी से एसी में इसके रूपांतरण से 240 वोल्ट का बिजली का उत्पादन हुआ। जिसका उपयोग घरेलू उपयोग के लिए किया जाता है। विरार के नेशनल कॉलेज से पढ़ाई शिक्षा लेने वाले हर्ष अभी बोरिवली के एक कॉलेज से पढ़ाई पूरी कर रहे है। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने पिता को दिया। हर्ष ने कहा कि उनका स्वप्न है,कि वह भविष्य में इस तरह का बड़ा प्रोजेक्ट खड़ा करें जिसमे कम से कम एक करोड़ रुपये खर्च होने की उम्मीद है। हर्ष ने कहा कि पालघर जिले में लगभग 110 किमी का समुद्र तट और कई छोटी और बड़ी नदियाँ और खाड़ियाँ हैं। जिससे यहां जल के प्रवाह से विद्युत उत्पन्न करने वाली युक्ति लाभकारी सिद्ध होगी। हर्ष चौधरी को अंडर वाटर रोबोटिक्स प्रतियोगिता में चुना गया था। नेहरू साइंस सेंटर, मुंबई में आयोजित नेशनल इनोवेशन फेस्टिवल और मेगा एग्जिबिशन 2020 प्रतियोगिता में हर्ष के प्रोजेक्ट को देश भर की 1000 परियोजनाओं में से 50 चयनित परियोजनाओं में शामिल किया गया था। 

प्रयोग बिजली की समस्या को रोकने, पर्यावरण को बचाने और प्राकृतिक जल स्रोतों से स्थानीय स्तर पर बिजली पैदा करने में मदद करेगा। साथ ही बिजली भी काफी सस्ती दर पर लोगों को उपलब्ध करवाई जा सकती है।

हर्ष चौधरी, बालवैज्ञानिक

यह न्यूज जरूर पढे