फैब इंडिया ने दिवाली पर चलाया “जश्न-ए-रिवाज”,भड़के भाजयुमो अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या,बोले इस दुस्साहस का उठाना पड़ेगा भारी नुकसान

by | Oct 18, 2021 | देश/विदेश

कंपनियां ग्राहकों को लुभाने के लिए भारी डिस्काउंट की कई सारी योजनाएं ला रही हैं। क्लाथिंग, होम डेकोर और लाइफस्टाइल प्रोडक्ट्स से जुड़ी कंपनी फैब इंडिया ने भी इस फेस्टिव सीजन पर अपने ग्राहकों के लिए ‘जश्न-ए-रिवाज’ कैंपेन की शुरुआत की थी, जिस पर बवाल मच गया।
भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने इसका विरोध जताते हुए कहा कि दीवाली ‘जश्न ए रिवाज’ नहीं है।

दरअसल फैब इंडिया ने एक ट्वीट कर कहा, ‘जैसा कि हम प्यार और प्रकाश के त्योहार का स्वागत करते हैं, फैबइंडिया द्वारा जश्न-ए-रियाज एक ऐसा संग्रह है जो खूबसूरती से भारतीय संस्कृति को श्रद्धांजलि देता है।’ कंपनी के इस ट्वीट का विरोध शुरू हो गया। हालांकि विवाद के बाद फैबइंडिया ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया। जश्न ए रिवाज कैंपने को लॉन्च करते हुए फैब इंडिया ने कहा, ‘इस दिवाली पहले से कहीं अधिक हम सभी मित्रों और परिवार से घिरे रहने के लिए आभारी हैं। यह संग्रह अपनेपन की भावना का प्रतीक है, आपसे शिल्प को अपनाने का आग्रह करता है। ऐसा कोई कारण नहीं है कि हमारे कारीगरों का सम्मान करके अपनी जड़ों का जश्न मनाना रोजमर्रा की बातचीत का हिस्सा न हो।’

फैब इंडिया के इस कैंपने का विरोध करते हुए पद्मश्री और मणिपाल ग्लोबल एजुकेशन के चेयरमैन मोहनदास पाई ने कहा, ‘दीपावली पर फैब इंडिया का बहुत ही शर्मनाक बयान! यह एक हिंदू धार्मिक त्योहार है जैसे क्रिसमस और ईद दूसरों के लिए है! इस तरह का बयान एक धार्मिक त्योहार को खत्म करने की सोची-समझी कोशिश को दिखाता है!’
भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने भी जश्न ए रिवाज कैंपेन का विरोध जताया। उन्होंने कहा ‘दीपावली जश-ए-रिवाज़ नहीं है। ऐसे जानबूझकर किए गए दुस्साहस के लिए आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ेगा।’

यह न्यूज जरूर पढे