पालघर:ज्‍यादा ब्‍याज का लालच देकर करोड़ों ठगे,दुबई से लौटने के बाद गिरफ्त में आया आरोपी

by | Oct 5, 2021 | गुजरात, देश/विदेश, पालघर, महाराष्ट्र, मुंबई, वसई विरार

हेडलाइंस18
वसई.मीरा-भायंदर,वसई-विरार आयुक्तालय की आर्थिक अपराध शाखा ने निवेशकों से करोड़ो की धोखाधड़ी के आरोप में 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिसमें नायगांव का रहने वाला अमित कांतिलाल जैन और वसई केवसंतनगर इलाके में रहने वाला योगेश विजय भालेराव शामिल है। मामले की जानकारी पुलिस के प्रवक्ता ने मंगलवार को दी है। आरोप है, कि दोनों ने वसई पश्चिम रेलवे स्टेशन के पास ‘आज एडु प्लस कंसल्टेंसी प्राइवेट लिमिटेड’ नाम से एक कंपनी शुरू की। और कंपनी में लोगों को 20 से 25 टक्के के ब्याज मुनाफ़ा को दिखाकर 215 निवेशकों से 8, 71, 41, 648 रुपये की ठगी की है।

दोनों आरोपियों पर जब लोगों ने पैसे वापस देने को कहा तो यह निवेशकों के पैसे लेकर दुबई और मुंबई भाग गये। उक्त आरोपी की जानकारी मिलने के बाद ब्यूरो ऑफ इमिग्रेशन दिल्ली को दी गई। मामले की जांच कर रहे अनंत पारद व पीओ संभाजी कदम ने एक गुप्त सूचना के आधार पर आरोपी अमित जैन को चिंचोटी इलाके से गिरफ्तार कर लिया। वही फरार आरोपी योगेश विजय भालेराव के बारे ब्यूरो ऑफ इमिग्रेशन दिल्ली से जानकारी मिली कि वह दुबई से भारत आया है। जिसके बाद पुलिस निरीक्षक अनंत पराड़, पीओ. संभाजी कदम ने आरोपी योगेश भालेराव को गुजरात के उम्बरगांव से गिरफ्तार कर लिया।

दोनों से पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपी अमित जैन ने ठगी के पैसे से चिचोटी वसई में 50 लाख रुपये का एक रो हाउस बंगला खरीदा और आरोपी योगेश भालेराव ने जेजुरी जिले, पुणे में रेलवे स्टेशन के पास 1 गुंठा जमीन 12 लाख रुपये में खरीदी थी। पुलिस ने बताया कि उक्त जमीन जब्त/संरक्षित कर लिया गया है। इस कार्रवाई में महेश पाटिल, पुलिस उपायुक्त (अपराध), पद्मजा बधे, सहायक पुलिस आयुक्त (आर्थिक अपराध शाखा), पुलिस निरीक्षक, अनंत पराड़, पीओ संभाजी कदम द्वारा की गई। इन दोनों आरोपियो पर माणिकपुर पुलिस स्टेशन में धारा 420, 406, 34 के साथ-साथ महाराष्ट्र जमाकर्ताओं (वित्तीय संस्थानों में हितों का संरक्षण) 1999 की धारा 3,4 के तहत मामला दर्ज किया गया है।पुलिस निरीक्षक अनंत पारद मामले की जांच कर रहे हैं।

यह न्यूज जरूर पढे