महाराष्ट्र से गुजरने वाली बुलेट ट्रेन का रास्ता हुआ साफ,परियोजना से पालघर जिले में बढ़ सकते है निवेश के नए अवसर

by | Sep 9, 2021 | ठाणे, पालघर, महाराष्ट्र, मुंबई, वसई विरार

मिथिलेश गुप्ता
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की महत्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन परियोजना (Bullet Train Project) का भूमि हस्तांतरण प्रस्ताव (Maharashtra) कई दिनों से अटका हुआ था। आखिरकार आज ठाणे नगर निगम (Thane Municipal Corporation) की आम बैठक में शिवसेना (Shiv sena) और ने सहमति जताई है।
इससे ठाणे (Thane) से गुजरने वाली बुलेट ट्रेन का रास्ता साफ हो गया है। ठाणे नगर निगम (Maharashtra) की आम बैठक में आज बुलेट ट्रेन क्षेत्र (Bullet Train Zone) के हस्तांतरण का प्रस्ताव रखा गया। लेकिन, प्रस्ताव को लेकर काफी असमंजस की स्थिति रही।

तीन बार बैठक स्थगित की गई। साथ ही एक बार प्रस्ताव भी दाखिल किया गया था। लेकिन अंत में बुलेट ट्रेन (Bullet Train) के लिए जगह स्थानांतरित करने के प्रस्ताव को महासभा ने मंजूरी दे दी। इस महत्वपूर्ण प्रस्ताव को मंजूरी मिलने से ठाणे जिले से गुजरने वाली बुलेट ट्रेन के मार्ग (Bullet Train Route) को मंजूरी मिल गई है। हालांकि शिवसेना ने शुरू में इस प्रस्ताव का विरोध किया, लेकिन आम सभा की बैठक में परियोजना के लिए सीटों के हस्तांतरण पर सहमति बनी।

इस बीच, मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन (Mumbai-Ahmedabad Bullet Train) की घोषणा के बाद से यह परियोजना विवादों में रही है। चूंकि इस परियोजना के 12 स्टेशनों में से 8 स्टेशन गुजरात में हैं, इसलिए यह स्पष्ट था कि यह परियोजना गुजरात की तरफ है।
महाराष्ट्र (Maharashtra) में आने वाले स्टेशन –
1) बीकेसी
2) ठाणे
3) विरार
4) बोईसर
यह प्रोजेक्ट इन चीजों को महाराष्ट्र (Maharashtra) में सबसे आगे लाएगा। बुलेट ट्रेन के काम ने रोजगार के अवसर प्रदान किए। बुलेट ट्रेन के काम से उस रूट पर आवास उद्योग को गति मिलेगी। बुलेट ट्रेन के रूट पर लॉजिस्टिक हब (Logistics Hub) बनाए जाएंगे। यह परियोजना पालघर जिले में निवेश के नए अवसर पैदा कर सकती है। मुंबई-अहमदाबाद रेलवे लाइन (Mumbai-Ahmedabad Railway Line) पर लोड कम होगा।

यह न्यूज जरूर पढे