योगी सरकार 1984 के सिख दंगा पीड़ितों के इंसाफ को बढ़ी आगे, 54 आरोपी चिन्हित, होगी कार्यवाही

by | Aug 13, 2021 | उत्तर प्रदेश, देश/विदेश, लखनऊ

शिवशंकर शुक्ल

लखनऊ : वर्ष 1984 में दंगों की आग में देश के साथ ही उत्तर प्रदेश का कानपुर भी खूब झुलसा था। यहां पर सरकारी रिकॉर्ड के मुताबिक 127 लोगों की हत्या हुईं और सैकड़ों लोग घायल हुए। दंगों में कई लोगों ने अपना सब कुछ खो दिया। 1984 से दंगाइयों पर कार्रवाई के इंतजार में न जाने कितने लोग दुनिया छोड़ गए तो कइयों ने इंसाफ की उम्मीद छोड़ दी। वहीं, कानपुर में अब सिख दंगों के मामले में 11 मामलों में चार्जशीट लगायी जा रही है। जिसके चलते 54 आरोपियों पर कार्रवाई की तलवार लटक रही है। इन सभी आरोपियों का सत्यापन भी हो चुका है। कानपुर के गोविन्द नगर, बर्रा, फजलगंज और अर्मापुर थाना क्षेत्रों में रहने वाले सिक्खों का कत्लेआम हुआ। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक इन दंगों में 127 लोगों की हत्या हुई और सैकड़ों लोग घायल हुए। उस समय हत्यायुक्त डकैती के 40 मामले दर्ज किए गए थे जिसके बाद दंगों का दर्द झेलने वाले सिक्ख समुदाय के लोगों में इंसाफ की आस जगी थी। सरकारें बदलती गयीं लेकिन लोगों को इंसाफ नहीं मिल सका। दंगा पीड़ितो को इंसाफ दिलाने के लिए योगी सरकार ने 2019 में एक एसआईटी का गठन किया।  एसआईटी ने 20 ऐसे मामलों की जांच की जिनमें फाइनल रिपोर्ट लगा दी गयी थी। यह 20 केस हत्या औऱ डकैती से सम्बंधित थे। एसआईटी ने 11 मुकदमों की जांच पूरी कर ली है, 9 केस बंद कर दिए गए हैं। जिन केसों की जांच पूरी की गई उसमें के 54 आरोपियों पर गिरफ्तारी की तलवार लटकने लगी है। सीओ एसआईटी सुरेन्द्र यादव ने बताया कि ये 11 केस शहर के अलग-अलग थानों गोविंद नगर, बर्रा, फजलगंज, नौबस्ता व अर्मापुर से संबंधित हैं। इसमें कुल 67 आरोपियों का सत्यापन किया गया था। जिनमें से 13 की मौत हो चुकी है। इस हिसाब से 54 आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए मंजूरी मांगी गई है। एसआईटी ने सिख विरोधी दंगों की जांच सौंपी गयी तो यह काम आसान नही था।

यह न्यूज जरूर पढे 

परशदेपुर: गरीबों के हक पर खुलेआम डाका,जरूरतमंदों को नहीं मिल रहा पीएम आवास योजना का लाभ

परशदेपुर: गरीबों के हक पर खुलेआम डाका,जरूरतमंदों को नहीं मिल रहा पीएम आवास योजना का लाभ

राजकुमार रायबरेली. सरकार ने इस उम्मीद के साथ प्रधानमंत्री आवास योजना शुरू की थी कि 2022 तक प्रत्येक गरीब व पात्र व्यक्ति को सिर पर पक्की छत हो। लेकिन आज भी गरीब व पात्र व्यक्ति योजना का लाभ लेने के लिए सरकारी दफ्तर के चक्कर काट रहे हैं। वहीं अमीर व प्रभावशाली लोग इसका...

नासिक में ट्रक और ऑटो रिक्शा में भीषण भिड़ंत,पांच लोगों की मौत

नासिक में ट्रक और ऑटो रिक्शा में भीषण भिड़ंत,पांच लोगों की मौत

महाराष्ट्र के नासिक जिले के निफड़ तालुका के लासलगांव-विनचुर मार्ग पर एक ऑटोरिक्शा और ट्रक की टक्कर में कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने इसकी जानकारी दी । लासलगांव थाने के अधिकारी ने रविवार को बताया कि घटना शनिवार देर रात की है और दुर्घटना में मारे गए सभी लोग...

प्लेन हो या होटल, थके नहीं प्रधानमंत्री मोदी; 65 घंटे के अमेरिकी दौरे में कीं कुल 20 मीटिंग,विमान के सफर में भी चलती रही बैठके

प्लेन हो या होटल, थके नहीं प्रधानमंत्री मोदी; 65 घंटे के अमेरिकी दौरे में कीं कुल 20 मीटिंग,विमान के सफर में भी चलती रही बैठके

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (prime minister narendra modi) अपनी तीन दिवसीय अमेरिका यात्रा से वापस लौट चुके हैं। उनका यह दौरा 65 घंटे का था और इस दौरान वह एक के बाद एक 20 बैठकों में शामिल हुए। इतना ही नहीं अमेरिका जाते और लौटते समय विमान भी में पीएम मोदी ने...