डोंबिवली : 27 गांवों के हक के लिए संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने की मनपा आयुक्त से की मुलाकात

by | Aug 5, 2021 | ठाणे, महाराष्ट्र

मिथिलेश गुप्ता
डोंबिवली : महाराष्ट्र सरकार ने 2015 में 27 गांवों को कल्याण डोंबिवली मनपा में जबरन शामिल कर दिया, लेकिन 27 गांवों के लोग स्वतंत्र नगर पालिका चाहते है. वहीं कल्याण डोंबिवली मनपा पिछले कई सालों से लोगों को बुनियादी सुविधा तक मुहैया नहीं करा पा रहा है. समग्र स्थिति के बावजूद, संघर्ष समिति ने इन गांवों को केडीएमसी से मुक्त करने और एक स्वतंत्र नगरपालिका बनाने करने की मांग किया है. 27 गांव में मूलभूत सुविधाए मिले इसके लिए संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने केडीएमसी आयुक्त डॉ विजय सूर्यवंशी से मुलाकात की और समस्याओं का एक निवेदन मनपा आयुक्त को दिया. क्षेत्र में आने वाले 27 गांवों के लगभग सभी गांवों में सड़क, गटर, स्ट्रीट लाइट, स्वास्थ्य व्यवस्था आदि की व्यवस्था ठीक नहीं है, मनपा केवल भूमिपुत्रों के निर्माण पर कार्रवाई के लिए तत्परता दिखा रहा है. इसमें भूमिपुत्र को काफी नुकसान हुआ है. आपके निर्माण पर कार्रवाई की जाएगी ऐसा बताकर यहां के अधिकारी कई लोगों से फिरौती वसूलने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं. 27 गांव संघर्ष समिति के गुलाब वझे ने भी कहा कि मनपा आयुक्त ने 27 गांव संघर्ष समिति के पदाधिकारियों से मुलाकात कर यहां के गांवों का निरीक्षण करने की मांग की है.

यह न्यूज जरूर पढे