छानबे:प्रधानों में मची खलबली,पढ़े पूरा मामला

by | Jul 28, 2021 | देश/विदेश

शिवशंकर शुक्ल

मिर्जापुर: छानबे खंड विकास प्रभारी अधिकारी द्वारा भ्रष्टाचार की जांच शुरू किए जाने से प्रधानों में खलबली मच गई है।
मिली जानकारी के अनुसार सेमरी ग्राम प्रधान के भ्रष्टाचार की शिकायत गोसाईदासपुर निवासी नीरज। पांडे व दिनेशकुमार पांडेय ने की थी जिसमे आरोप लगाया गया था कि सामुदायिक शौचालय में ताला लगा रहता है , शौचालय के केयर टेकर को 27000 रुपए का भुगतना पंचायत द्वारा किया गया है। हेडप्पम के नाम पर 26100 रुपए, का भुगतान हुआ है, परंतु एक भी हैड पम्प की मरम्मत नही की गई है। शौचालय के अंदर का छोड़ सभी पहले से ही ठीक है। , इस के अलावा कुर्सी ,मेज आलमारी की 15940 रुपए का भुगतान किया गया जब कि पंचायत भवन में यह सब फर्नीचर नही है ,इतना ही नही 12 जुलाई 2021 7600 रुपए तत्पश्चात 15 जुलाई 2021 को ही 7600 रुपए का स्टेशनरी खरीद का भुगतान हुआ , उक्त सभी खरीद किए गए सामान कहा गए, सभी शिकायतों की जांच की जाय, शिकायत के आधार पर प्रशिक्षणार्थी एस डीएम अश्विनी सिंह ,प्रभारी बीडीओ ने जब जांच की तो शौचालय का हेंड पाइप खराब मिला इसके अलावा गंदगी मिली, इतना ही नही पंचायत भवन में एक भी कुर्सी ,टेबल या आलमारी नही थी , शिकायत सही होने की व भ्रष्टाचार की पुष्टि होते ही इस जांच से अन्य प्रधानों में खल बली मच गई ,जिस से अपने आप को बचाने के लिए खण्ड विकास प्रभारी अधिकारी सिंह के तबादला करने हेतू सक्रिय होगए, यहाँ तक की गांव का विकास कार्य ठप्प कर दिया गया। मनरेगा के काम बंद कर दिए जाने से मनरेगा मजदूरों की रोजी रोटी प्रभावित हो रही है।

जानकारों का कहना है कि यह सब दबाव बनाने के लिए ही किया जा रहा है , विशेशर बौता गांव निवासी 70 वर्षीय कबीरदास नामक ब्यक्ति जिंदा ब्यक्ति को मृत बता कर उसका आवास वहां के प्रधान ने विडियो सेक्रेटरी से मिलकर काट दिया था, क्यो की उस ब्यक्ति ने 3 हजार रुपए नही दिए उस समय किसी प्रधान ने आवाज नही उठाया आज जब भ्रष्टाचार की पोल खुलने लगी और कोई ईमानदार अधिकारी कार्रवाई कर ने की हिम्मत कर रहा है तो उसके विरुद्ध सभी प्रधान एक जुट हो कर तबादले की मांग कर रहे है , समाज सेवियो का कहना है कि अगर तबादला हुआ तो भ्रष्टाचारियो की जीत होगी।

यह न्यूज जरूर पढे