लोकनेते स्व. दि. बा. पाटील को पद्म पुरस्कार देने की सिफारिश

by | Jul 15, 2021 | ठाणे, महाराष्ट्र

एयरपोर्ट नामकरण कृति कमेटी से पूर्व विधायक सुभाष भोईर ने की मांग

मिथिलेश गुप्ता
डोंबिवली : लोकनेते स्व. दि. बा. पाटील के द्वारा किए गए सामाजिक कार्यों के साथ-साथ जनता और जमीनी स्तर के नागरिकों के लाभ के लिए किए गए प्रयास अमूल्य हैं। स्व. दि. बा. पाटील ने नवी मुंबई सिडको और जेएनपीटी परियोजना प्रभावित लोगों का नेतृत्व किया। उन्होंने संयुक्त महाराष्ट्र, मंडल आयोग, किसानों और भूमिपुत्रों के मुद्दे सहित विभिन्न मुद्दों पर कई आंदोलन शुरू किए थे। सिडको परियोजना ने प्रभावित किसानों को अधिकतम मुआवजा प्रदान करवाई। ऐसे जननेता को राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित करने के लिए जननेता स्व. दि. बा. पाटील को मृत्यु के बाद पद्म श्री, पद्म विभूषण और पद्म भूषण से सम्मानित किया जाना चाहिए । स्व. दि. बा. पाटील एयरपोर्ट नामकरण कृति कमेटी की ओर से आयोजित बैठक में पूर्व विधायक सुभाष भोईर ने आगरी समाज की ओर से मांग करते हुए कमेटी को फालोअप करने का निर्देश दिया है । देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पद्म पुरस्कार के लिए नामांकन की अपील की है । पद्म पुरस्कार, भारत में सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में से एक, कला, समाज सेवा, सार्वजनिक कार्यों, विज्ञान, इंजीनियरिंग, व्यापार, चिकित्सा, साहित्य और शिक्षा, खेल, सिविल सेवा, आदि के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले व्यक्तियों को दिया जाता है। लोकनेते स्व. दि. बा. पाटील पनवेल नगर पालिका के मेयर, पनवेल उरण विधानसभा क्षेत्र के चार बार विधायक, महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता, रायगढ़ से दो बार सांसद रहे। आम आदमी को न्याय दिलाने के लिए उन्हें आंदोलन, जेल कारावास का भी सामना करना पड़ा। लाखों कार्यकर्ताओं के बल पर व्यवस्था के खिलाफ कई लड़ाइयाँ जीतीं। उन्होंने अपना पूरा जीवन किसानों के लिए बिताया। उन्होंने भूमिहीन खेतिहर मजदूरों, नमक मजदूरों और परियोजना प्रभावित लोगों की विभिन्न मांगों को तोड़कर हजारों लोगों को न्याय दिलाया। रायगढ़, ठाणे, नवी मुंबई, मुंबई, नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को ऐसे ही एक जननेता का नाम देने के लिए मानव शृंखला का आंदोलन 10 जून व 24 जून 2021 को लाखों लोगों ने सिडको दफ्तर का घेराव किया था ।

यह न्यूज जरूर पढे 

महाराष्ट्र: रायगढ़ जिले में भीषण बारिश के बाद भूस्खलन,36 की मौत

महाराष्ट्र: रायगढ़ जिले में भीषण बारिश के बाद भूस्खलन,36 की मौत

महाराष्ट्र के कई जिलों में भारी बारिश जारी है, जिससे रायगढ़ जिले में बारिश के बाद हुए भूस्खलन से 36 लोगों की मौत की खबर सामने आ रही है। यह हादसा महाड तालुका के सखार सुतार वाड़ी में हुआ है।राज्य के कोंकण क्षेत्र में लगातार बारिश जारी है। जिले में बाढ़ प्रभावित...

ठाणे जिला मे भारी बारिश , कई स्थानों पर बाढ़ की स्थिति

ठाणे जिला मे भारी बारिश , कई स्थानों पर बाढ़ की स्थिति

मिथिलेश गुप्ता डोंबिवली : मुंबई, ठाणे और ठाणे जिलों में कल्याण-डोंबिवली, बदलापुर, भिवंडी, शाहपुर, अंबरनाथ और शाहद जिलों में भारी बारिश हुई. डोंबिवली के पास देवीचापाड़ा, कोपर, मोठगाँव ठाकुर्ली, गरीबांच्य वाडा, राजू नगर, कुंभरखान पाड़ा में बाढ़ आ गई है। डोंबिवली पश्चिम...

पालघर में फिर तार-तार हुई इंसानियत, कोरोना मरीजों को परोस दिया……

पालघर में फिर तार-तार हुई इंसानियत, कोरोना मरीजों को परोस दिया……

भारतीय जनता पार्टी के विधान परिषद सदस्य निरंजन दावखरे ने बुधवार को दावा किया कि पालघर जिले के एक कोविड-19 देखभाल केंद्र में मरीजों को कीड़ा लगा भोजन परोसा जा रहा है।एमएलसी ने विक्रमगढ़ में राज्य सरकार द्वारा संचालित कोविड-19 देखभाल केंद्र में भोजन की आपूर्ति करने वाले...