सख्त जनसंख्या नियंत्रण कानून लाने की तैयारी में मोदी सरकार,छह अगस्त को राज्यसभा में हो सकती है चर्चा

by | Jul 12, 2021 | उत्तर प्रदेश, गुजरात

जनसंख्या नियंत्रण को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार की नई नीति के चर्चा के बीच केंद्र सरकार इस पर कानून लाने की तैयारी में है। कानून बनाने से पहले भारतीय जनता पार्टी का शीर्ष नेतृत्व इस मसले पर धीरे-धीरे एक-एक कदम आगे बढ़ा रहा है। एक तरफ भाजपा शासित राज्यों को इस पर नीतियों पेश करने को कहा गया है जिससे कि इस मुद्दे पर देश भर में एक माहौल बनाया जा सके। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश सरकार ने जनसंख्या नियंत्रण नीति पेश की है। असम सरकार असम के मुख्यमंत्री हिमंत विस्वा ने भी कहा है कि इस नीति पर जल्दी ही फैसला होगा। दूसरी तरफ राज्यसभा सांसदों के जरिए सदन में प्राइवेट मेंबर बिल पेश करके एक ऐसा दांव चल रही है जिससे कानून बनाने की तरफ बढ़ा जा सके। बताया जा रहा है कि इसी सत्र में लोकसभा के आधा दर्जन सांसद भी इसी मुद्दे पर प्राइवेट मेंबर बिल ला सकते हैं। राज्यसभा में पूर्ण बहुमत नहीं होने के कारण विपक्षी दलों से भी समर्थन जुटाने की कोशिश
भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी, हरनाथ सिंह यादव और अनिल अग्रवाल ने राज्यसभा में बिल पेश किया है। बताया जा रहा है कि जल्दी ही शुरु होने वाले मानसून सत्र में इस बिल पर चर्चा होगी। इसके लिए छह अगस्त का दिन तय किया गया है और इस पर वोटिंग भी कराई जा सकती है। जानकारों का कहना है कि चाहे कानून मंत्रालय या गृह मंत्रालय कोई बिल लाए या प्राइवेट मेंबर बिल इसमें कोई अंतर नहीं आता। 
 सूत्रों का कहना है कि जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कानून बनाना अब सरकार के एजेंडे में सबसे ऊपर है। इसलिए, बेशक यह प्राइवेट मेंबर बिल है लेकिन सरकार की योजना इस विधयेक को राज्यसभा से पारित कराने की है और इसके लिए विपक्षी दलों से भी समर्थन जुटाने की कवायद चल रही है। उत्तर प्रदेश सरकार की जनसंख्या नियंत्रण नीति को समर्थन देने के राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार के बयान को भी इसी संदर्भ में देख जा रहा है। किसी भी बिल का संसद के दोनों सदनों से पारित होना जरुरी है। 
मैं बिल पर खुद भी विपक्षी दलों से मांगूंगा समर्थन- सांसद, अनिल अग्रवाल
प्राइवेट मेंबर बिल पेश करने वाले राज्यसभा सांसद अनिल यादव ने अमर उजाला डिजिटल से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री पहले ही15 अगस्त 2019 को लालकिले की प्राचीर से जनसंख्या नियंत्रण को लेकर अपनी बात कह चुके हैं। अब समय आ गया है कि जनसंख्या नियंत्रण की नीति को अमल में लाया जाए और सभी पार्टियां दलगत राजनीति से ऊपर उठकर इस राष्ट्रीय मुद्दे पर साथ आए। उन्होंने कहा कि जनसंख्या विस्फोट जिस तरह विकास को बाधा पहुंचा रही है उससे हम आशा जताते हैं कि सभी विपक्षी पार्टियां भी इस पर एक साथ आएंगी। हम तीन सांसदों ने मिलकर इस पर प्राइवेट मेंबर बिल पेश किया है। वैसे तो राज्यसभा में हमारा पूर्ण बहुमत नहीं है इसलिए विपक्षी दलों से भी इस पर समर्थन जुटाने की कोशिश हमारा शीर्ष नेतृत्व करेगा। साथ ही मैं खुद भी विपक्षी दलों से अपने बिल को लेकर समर्थन मांगूंगा। 

राकेश सिन्हा ने भी 2019 में किया था ऐसा ही बिल पेश
इससे पहले 2019 में आरएसएस विचारक और राज्यसभा सासंद राकेश सिन्हा भी जनसंख्या विनियमन विधेयक, 2019′ पेश कर चुके हैं जो कि अभी लंबित पड़ा है। इसमें भी दो से ज़्यादा बच्चे पैदा करने वाले लोगों को दंडित करने और सभी सरकारी लाभों से वंचित करने का प्रस्ताव किया गाय था. 
बिल में जनसंख्या नियंत्रण रखने के कई प्रावधान 
इस बिल में जनसंख्या नियंत्रण को प्रोत्साहित करने के लिए कई प्रावधान किए जाने की सिफारिश की गई है। प्रस्ताव के मुताबिक अगर कोई दंपती दो बच्चा पैदा करता है तो उसके लिए कोई अतिरिक्त छूट या लाभ नहीं दिया जाएगा। दो से ज्यादा बच्चा पैदा करने पर सरकारी नौकरी छीनने और मतदान करने, चुनाव लड़ने और राजनीतिक पार्टी बनाने के अधिकार को समाप्त करने की बात कही गई है। ड्राफ्ट में एक बच्चा नीति को प्रोत्साहित करने के लिए कई प्रावधान किए गए हैं। बिल में दो से अधिक बच्चा पैदा करने पर व्यक्ति के मूल अधिकार में कटौती की कोई बात नहीं कही गई है, लेकिन उसके पार्टी बनाने, चुनाव लड़ने या मतदान करने के कानूनी अधिकार को समाप्त करने की बात जरुर शामिल है। 

यह न्यूज जरूर पढे 

डीह|खून से लथपथ मिला मासूम का शव,मचा हड़कंप

डीह|खून से लथपथ मिला मासूम का शव,मचा हड़कंप

राजकुमार रायबरेली: नानी के साथ घर के बाहर सो रही 12 वर्षीय मासूम बालिका की संदिग्ध परिस्थितियों में खून से लथपथ लाश गांव के बाहर मिली. लाश मिलने से गांव में हड़कंप मच गया. सूचना पर डीह थाने की पुलिस के साथ उच्च अधिकारी भी मौके पर पहुंचे. जमीन का लालच हत्या का...

क्षेत्र पंचायत सदस्य ने गांव की समस्या को लेकर विकास खण्ड अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

क्षेत्र पंचायत सदस्य ने गांव की समस्या को लेकर विकास खण्ड अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

राजकुमार रायबरेली. विकास खण्ड डीह के पंचम क्षेत्र पंचायत सदस्य बबलू यादव ने अपने क्षेत्र की समस्या को देखते हुए विकस खण्ड अधिकारी को लिखित सूचना पत्र देकर क्षेत्र की समस्या गिनाई और समस्या के निपटारे कि मांग की। डीह पंचम क्षेत्र पंचायत सदस्य ने बताया कि पूरे उपाध्याय...

परशदेपुर|CM योगी की फटकार बेअसर, ब्लॉक प्रमुख के शपथ ग्रहण समारोह में ऐसी हरकत कर गये शिक्षाधिकारी,तस्वीरे कर देगी शर्मसार

परशदेपुर|CM योगी की फटकार बेअसर, ब्लॉक प्रमुख के शपथ ग्रहण समारोह में ऐसी हरकत कर गये शिक्षाधिकारी,तस्वीरे कर देगी शर्मसार

राजकुमाररायबरेली.सीएम योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बनते ही अधिकारियों को यह साफ कह दिया था कि पिछली सरकारों की तरह ढीला रवैया छोड़ना ही होगा। ऐसा न करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। पर लगता है कि अधिकारियों ने या तो उनकी बात को गंभीरता नहीं लिया या फिर वो भूल गए। यह...