महाराष्ट्र | 12th एग्जाम बोर्ड परीक्षा के लिए मूल्यांकन का फार्मूला जारी किया शिक्षा मंत्री ने

by | Jul 3, 2021 | महाराष्ट्र, मुंबई

महाराष्ट्र में कोरोना महामारी के मद्देनजर12वीं कक्षा बोर्ड परीक्षा रद्द की गयी है। इसके बाद अब राज्य स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए अंकों के आवंटन की नीति की घोषणा की है।

उन्होंने बताया कि किसी विद्यार्थी के प्रदर्शन का मूल्यांकन करने के लिए, 11वीं और 12वीं कक्षाओं की आंतरिक परीक्षाओं में कॉलेज आधारित मूल्यांकन में उसके अंक और 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं में तीन सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन वाले विषयों के औसत को माना जाएगा।

गायकवाड़ ने एक बयान में कहा, ”विभिन्न हितधारकों से कई चरण के विचार-विमर्श के बाद, हमने आकलन के तरीके को अंतिम रूप दिया है और 12वीं कक्षा के उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड विद्यार्थियों के लिए अंकों की गणना के लिए नीति बनाई है।
वैश्विक महामारी की स्थिति को देखते हुए, राज्य बोर्ड को सभी विद्यार्थियों को उत्तीर्ण करने की अनुमति दी गई है।” उन्होंने कहा, “विद्यार्थी के प्रदर्शन की सही एवं निष्पक्ष झलक के लिए, 12वीं और 11वीं कक्षाओं में कॉलेज आधारित मूल्यांकन में उसके अंकों और 10वीं की बोर्ड परीक्षा में तीन सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन वाले विषयों के प्राप्तांकों पर विचार किया जाएगा।”

मंत्री ने बताया कि थ्योरी (सिद्धांत) वाले हिस्से के लिए 12वीं कक्षा के एक या उससे अधिक (यूनिट टेस्ट/ पहले सेमेस्टर की परीक्षा/ अभ्यास परीक्षा) के थ्योरी प्रश्नपत्रों को 40 प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा जबकि 11वीं कक्षा की अंतिम परीक्षा और तीन सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन वाले 10वीं कक्षा के थ्योरी पेपरों के औसत अंकों का वेटेज 30-30 प्रतिशत होगा।

गायकवाड़ ने कहा कि समग्र मूल्यांकन थ्योरी प्रश्नपत्रों और मौखिक/व्यावहारिक/आंतरिक मूल्यांकन में छात्रों के प्रदर्शन का माप होगा। मौखिक/व्यावहारिक/आंतरिक मूल्यांकन के अंक बोर्ड की प्रचलित नीति के मुताबिक वास्तविक आधार होंगे।

उन्होंने कहा, “बेशक यह तदर्थ व्यवस्था होगी लेकिन यह विश्वसनीय आंकड़ा बिंदुओं का इस्तेमाल करते हुए निरंतर मूल्यांकन के भावना को बरकरार रखने का प्रयास है। यह कोविड से पहले के समय के दौरान किए जाने वाले आकलन के आधार पर कक्षा 10वीं, 11वीं कक्षा के अंकों की गणना के जरिए ‘सामान्य समय’ की कुछ झलक भी प्रदान करता है।”

यह न्यूज जरूर पढे 

महाराष्ट्र: रायगढ़ जिले में भीषण बारिश के बाद भूस्खलन,36 की मौत

महाराष्ट्र: रायगढ़ जिले में भीषण बारिश के बाद भूस्खलन,36 की मौत

महाराष्ट्र के कई जिलों में भारी बारिश जारी है, जिससे रायगढ़ जिले में बारिश के बाद हुए भूस्खलन से 36 लोगों की मौत की खबर सामने आ रही है। यह हादसा महाड तालुका के सखार सुतार वाड़ी में हुआ है।राज्य के कोंकण क्षेत्र में लगातार बारिश जारी है। जिले में बाढ़ प्रभावित...

ठाणे जिला मे भारी बारिश , कई स्थानों पर बाढ़ की स्थिति

ठाणे जिला मे भारी बारिश , कई स्थानों पर बाढ़ की स्थिति

मिथिलेश गुप्ता डोंबिवली : मुंबई, ठाणे और ठाणे जिलों में कल्याण-डोंबिवली, बदलापुर, भिवंडी, शाहपुर, अंबरनाथ और शाहद जिलों में भारी बारिश हुई. डोंबिवली के पास देवीचापाड़ा, कोपर, मोठगाँव ठाकुर्ली, गरीबांच्य वाडा, राजू नगर, कुंभरखान पाड़ा में बाढ़ आ गई है। डोंबिवली पश्चिम...

पालघर में फिर तार-तार हुई इंसानियत, कोरोना मरीजों को परोस दिया……

पालघर में फिर तार-तार हुई इंसानियत, कोरोना मरीजों को परोस दिया……

भारतीय जनता पार्टी के विधान परिषद सदस्य निरंजन दावखरे ने बुधवार को दावा किया कि पालघर जिले के एक कोविड-19 देखभाल केंद्र में मरीजों को कीड़ा लगा भोजन परोसा जा रहा है।एमएलसी ने विक्रमगढ़ में राज्य सरकार द्वारा संचालित कोविड-19 देखभाल केंद्र में भोजन की आपूर्ति करने वाले...