CSIR सीरोसर्वे : सिगरेट पीने वालों और ‘O’ ब्‍लड ग्रुप वालों से दूर रहता है कोरोना वायरस,एक क्लिक में जानिए पूरी रिपोर्ट

by | Apr 25, 2021 | कोविड 19, देश/विदेश

कोरोना वायरस संक्रमण कहर जारी है, रोजाना बड़ी संख्‍या में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं. इसके साथ ही अधिक संख्‍या में लोगों की मौत भी हो रही है. इस बीच हाल ही में काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च (CSIR) ने अध्‍ययन की रिपोर्ट जारी की है, जिसमें दावा किया गया है कि धूम्रपान या स्‍मोकिंग (Smokers) करने वालों, शाकाहारियों और ब्‍लड ग्रुप ‘ओ’ (Blood Group O) वाले लोगों में कोरोना वायरस से संक्रमित होने का खतरा कम होता है.

सीएसआईआर की ओर उसके करीब 40 संस्थानों में किए गए सीरो सर्वे के अनुसार धूम्रपान करने वालों और शाकाहारियों में कम सीरो पॉजिटिविटी पाई गई है, जो यह दर्शाता है कि उन्हें कोरोना वायरस से संक्रमित होने का कम जोखिम हो सकता है.इस सर्वेक्षण में पाया गया कि रक्त समूह ‘ओ’ वाले लोग संक्रमण के प्रति कम संवेदनशील हो सकते हैं, जबकि ‘बी’ और ‘एबी’ रक्त समूह वाले लोग अधिक जोखिम में हो सकते हैं. बता दें कि सीरो पॉजिटिविटी का मतलब होता है रक्त जांच में रोग प्रतिरोधक के लिए सकारात्मक परिणाम.

सीएसआईआर ने कोरोना वायरस के प्रति एंटीबॉडी की मौजूदगी का आकलन करने के लिए अपनी प्रयोगशालाओं या संस्थानों में काम करने वाले 10,427 युवाओं और उनके परिवार के सदस्यों के स्वैच्छिक आधार पर नमूने लिए.सीएसआईआर-इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी (IGIB)द्वारा संचालित अध्ययन में कहा गया है कि 10,427 व्यक्तियों में से 1,058 (10.14 फीसदी) में एसएआरएस-सीओवी -2 वायरस के प्रति एंटीबॉडी थी. आईजीआईबी में वरिष्ठ वैज्ञानिक व अध्ययन के सह-लेखक शांतनु सेनगुप्ता ने कहा कि नमूनों में से 346 सीरो पॉजिटिव व्यक्तियों की तीन महीने के बाद की गई जांच में पता चला कि उनमें एसएआरएस-सीओवी -2 के प्रति एंटीबॉडी स्तर स्थिर से लेकर अधिक था लेकिन वायरस को बेअसर करने के लिए प्लाज्मा गतिविधि में गिरावट देखी गई.

साथ ही उन्होंने कहा कि 35 व्यक्तियों की छह महीने में दोबारा नमूने लिए जाने पर एंटीबॉडी के स्तर में तीन महीने की तुलना में गिरावट जबकि बेअसर करने वाली एंटीबॉडी का स्तर स्थिर देखा गया. हालांकि सामान्य एंटीबॉडी के साथ ही बेअसर करने वाला एंटीबॉडी का स्तर जरूरत से अधिक था. अध्ययन में कहा गया है कि हमारा निष्कर्ष है कि धूम्रपान करने वालों के सीरो पॉजिटिव होने की संभावना कम है, सामान्य आबादी से पहली रिपोर्ट है और इसका सबूत है कि कोविड​​-19 के श्वसन संबंधी बीमारी होने के बावजूद धूम्रपान बचावकारी हो सकता है ।

यह न्यूज जरूर पढे 

बंगाल : मेदिनीपुर में हिंसा से पीड़ित कार्यकर्ताओ से मिलने पहुंचे केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन पर हुआ हमला, कार हुई क्षतिग्रस्त

बंगाल : मेदिनीपुर में हिंसा से पीड़ित कार्यकर्ताओ से मिलने पहुंचे केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन पर हुआ हमला, कार हुई क्षतिग्रस्त

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद बंगाल के विभिन्न इलाकों में हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है. बीजेपी कार्यकर्ताओं पर लगातार हमले हो रहे हैं. अब पश्चिम मेदिनीपुर जिले के पंचखुंडी गांव में केंद्रीय राज्य मंत्री वी मुरलीधरन की कार पर हमले किए गए हैं. हालांकि...

बहुजन विकास आघाड़ी की मांग,पालघर-बोईसर में लॉकडाउन’ के बीच गरीबों को मुफ्त खाना दे उद्धव सरकार

बहुजन विकास आघाड़ी की मांग,पालघर-बोईसर में लॉकडाउन’ के बीच गरीबों को मुफ्त खाना दे उद्धव सरकार

हेडलाइंस18 महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोरोना संकट से निपटने के लिए कड़े प्रतिबंधो का ऐलान किया है। 'ब्रेक द चेन' के तहत कई तरह की पाबंदियां लगी है। सख्त पाबंदियों से गरीबों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया। ऐसे में बहुजन विकास आघाड़ी ने उद्धव सरकार...

पालघर : कोरोना की रफ्तार फिर हुई तेज,आज मिले 1507 नए केस,जानिए आज के ताजा आंकड़े

पालघर : कोरोना की रफ्तार फिर हुई तेज,आज मिले 1507 नए केस,जानिए आज के ताजा आंकड़े

हेडलाइंस18 नेटवर्कपालघर : बेकाबू कोरोना ( Covid19) का कहर लगातार जारी है । राज्य में कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए मिनी लॉकडाउन लगाया गया है । जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों के आंकड़ों में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है ।कोरोना के ताजा आंकड़ेअब तक कुल मरीज -...