केरल हाई कोर्ट का फैसला, ‘मुस्लिम महिलाएं दे सकेंगी तलाक, पति की सहमति की जरूरत नहीं’

by | Apr 15, 2021 | देश/विदेश

केरल उच्च न्यायालय ने करीब 50 साल पुराने अपने फैसले को पलटते हुए अदालती प्रक्रिया से इतर तलाक देने के मुसलमान महिलाओं के अधिकार को बहाल कर दिया है। उच्च न्यायालय की खंडपीठ ने कई याचिकाओं पर सुनवाई के बाद यह फैसला सुनाया है। बता दें कि इस संबंध में परिवार अदालतों में दायर विभिन्न याचिकाओं में राहत देने की मांग की गई थी। पीठ ने फैसले में कहा कि मुसलमान महिलाओं की दुविधा, विशेष रूप से केरल राज्य में, समझी जा सकती है जो ‘केसी मोईन बनाम नफीसा एवं अन्य’ के मुकदमे में फैसले के बाद उन्हें हुई। इस फैसले में मुस्लिम विवाह अधिनियम, 1939 समाप्त होने के मद्देनजर न्यायिक प्रक्रिया से इतर तलाक लेने के मुसलमान महिलाओं के अधिकार को नजरअंदाज कर दिया गया था। एकल पीठ ने अपने फैसले में कहा था कि किसी भी परिस्थिति में कानूनी प्रक्रिया से इतर एक मुस्लिम निकाह समाप्त नहीं हो सकता है। वहीं, न्यायमूर्ति ए मोहम्मद मुश्ताक और सीएस डियास की खंड पीठ ने इस्लामी कानून के तहत निकाह को समाप्त करने के विभिन्न तरीकों और शरिया कानून के तहत महिलाओं को मिले तलाक के अधिकार पर विस्तृत टिप्पणी की। केसी मोइन मामले में घोषित कानून सही नहीं निकाह समाप्त करने के इन तरीकों में तलाक-ए-तफविज, खुला, मुबारत और फस्ख शामिल हैं। खंड पीठ ने नौ अप्रैल के अपने फैसले में कहा, ‘शरीयत कानून और मुस्लिम निकाह समाप्ति कानून के विश्लेषण के बाद हमारा विचार है कि मुस्लिम निकाह समाप्ति कानून मुसलमान महिलाओं को अदालत के हस्तक्षेप से इतर फश के जरिए तलाक लेने से रोकता है। अदालत ने अपने फैसले में कहा, ‘शरीयत कानून के प्रावधान दो में जिन सभी न्यायेतर तलाक के तरीकों का जिक्र है, वे सभी अब मुसलमान महिलाओं के लिए उपलब्ध हैं। इसलिए हम मानते हैं कि केसी मोइन मामले में घोषित कानून, सही कानून नहीं है।’ पीठ ने कहा कि पवित्र कुरान में भी पुरुषों और महिलाओं को तलाक देने के समान अधिकार की मान्यता दी गई है।

यह न्यूज जरूर पढे 

पूर्व मंत्री और सलोन से BJP विधायक दल बहादुर कोरी का निधन, कोरोना से थे संक्रमित

पूर्व मंत्री और सलोन से BJP विधायक दल बहादुर कोरी का निधन, कोरोना से थे संक्रमित

राजकुमार यूपी के रायबरेली जिले की सलोन विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक और पूर्व मंत्री दल बहादुर कोरी का इलाज के दौरान निधन हो गया है.करीब एक सप्ताह पहले उन्हें लखनऊ (Lucknow) के अपोलो अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था.बताया गया कि दल बहादुर कोरी कोरोना से...

बोईसर की रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाली कंपनी का मंत्री असलम शेख ने किया दौरा,कहा केंद्र सरकार अगर करे ये काम तो इंजेक्शन की नही होगी कमी

बोईसर की रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाली कंपनी का मंत्री असलम शेख ने किया दौरा,कहा केंद्र सरकार अगर करे ये काम तो इंजेक्शन की नही होगी कमी

हेडलाइंस18 पालघर.मुंबई के पालकमंत्री असलम शेख ने बोईसर की तारापूर एमआईडीसी में स्थित रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाली कमला लाईफ सायन्सेस लिमटेड कंपनी का दौरा किया। और कोरोना काल मे लोगों के लिए संजीवनी बने रेमडेसिविर इंजेक्शन का उत्पादन और कैसे बढ़ाया जाए इसको लेकर...

ठाणे:ATS ने सात किलो यूरेनियम के साथ दो लोगों को किया गिरफ्तार, बाजार में खोज रहे थे ग्राहक

ठाणे:ATS ने सात किलो यूरेनियम के साथ दो लोगों को किया गिरफ्तार, बाजार में खोज रहे थे ग्राहक

मिथिलेश गुप्ता महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधी दस्ते (ATS) ने गुरुवार को 7 किलो यूरेनियम के साथ 2 लोगों को ठाणे से गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपी पिछले कई दिनों से यूरेनियम बेचने के लिए खरीदार की तलाश कर रहे थे। जब्त यूरेनियम की बाजार में कीमत 21 करोड़ रुपए बताई जा रही है।...