किराएदार अपने आप को मकान मालिक न समझे – सुप्रीम कोर्ट

by | Apr 2, 2021 | देश/विदेश

मकान खाली करने में आनाकानी कर रहे एक किराएदार को सुप्रीम कोर्ट ने राहत देने से इनकार करते हुए कहा कि जिसके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्‍थर नहीं मारते. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले ये साफ हो गया कि मकान मालिक ही किसी मकान का असली मालिक (Owner) होता है. किराएदार चाहे जितने भी दिन किसी मकान में क्‍यों न रह ले उसे ये नहीं भूलना चाहिए कि वह मात्र एक किराएदार है न कि मकान का मालिक.

जस्टिस रोहिंग्टन एफ नरीमन की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने मामले की सुनवाई करते हुए किराएदार दिनेश को किसी भी तरह की राहत देने से इनकार कर दिया और आदेश दिया कि उन्‍हें परिसर खाली करना ही पड़ेगा. इसके साथ ही कोर्ट ने किराएदार दिनेश को जल्‍द से जल्‍द बकाया किराया देने के भी आदेश जारी किए. किराएदार के वकील दुष्‍यंत पाराशर ने पीठ से कहा कि उन्‍हें बकाया किराए की रकम जमा करने के लिए वक्‍त दिया जाए. इस पर कोर्ट ने किराएदार को मोहलत देने से साफ इनकार कर दिया. कोर्ट ने कहा कि जिस तरह से आपने इस मामले में मकान मालिक को परेशान किया है उसके बाद कोर्ट किसी भी तरह की राहत नहीं दे सकता. आपको परिसर भी खाली करना होगा और किराए का भुगतान भी तुरंत करना होगा.

यह न्यूज जरूर पढे 

पहले आया कोरोना निगेटिव का मैसेज,एक घंटे बाद फिर आया पॉजिटव का मैसेज, नगरपालिका कर्मियों ने आकर घर को किया सील,युवक असमंजस में…

पहले आया कोरोना निगेटिव का मैसेज,एक घंटे बाद फिर आया पॉजिटव का मैसेज, नगरपालिका कर्मियों ने आकर घर को किया सील,युवक असमंजस में…

कोरोना को लेकर कई तथ्यों पर अक्सर भ्रम फैलता रहा है. इसकी टेस्ट रिपोर्ट को लेकर भी कई बार विवाद सामने आए है लोग तरह तरह की बाते करते है. ऐसा ही ताजा मामला भैसदेही का है. जहां एक किशोर के एक कोविड सैम्पल की दो रिपोर्ट आई है. जिसके बाद किशोर के घर को सील कर दिया गया है....

सराहनीय | कोरोना से बचाव के लिए ग्रामीणों ने की कड़ी नाकाबंदी, जागरूकता का सम्मान करते हुए गांव में प्रवेश किए बिना मंत्री और जिलाधिकारी भी वापस लौटे,मुख्यमंत्री भी हुए फिदा

सराहनीय | कोरोना से बचाव के लिए ग्रामीणों ने की कड़ी नाकाबंदी, जागरूकता का सम्मान करते हुए गांव में प्रवेश किए बिना मंत्री और जिलाधिकारी भी वापस लौटे,मुख्यमंत्री भी हुए फिदा

देशभर में कोरोना का कहर जारी है.मध्य प्रदेश के इंदौर जिले का करीबन 7,000 की आबादी वाले ढाबली गांव में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए ग्रामीणों ने अपने स्तर पर कड़ी नाकाबंदी के जरिये बाहरी लोगों के प्रवेश पर सख्ती कर रखी है. सख्ती का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि...

पालघर में 103 साल के बुजुर्ग ने कोरोना को दी मात,मुस्कान के साथ अस्पताल से निकलकर लौटे घर

पालघर में 103 साल के बुजुर्ग ने कोरोना को दी मात,मुस्कान के साथ अस्पताल से निकलकर लौटे घर

पालघर में 103 साल के बुजुर्ग कोरोना वायरस को हराकर अपने घर लौट आए हैं। इतनी ज्यादा उम्र का होने के बाद भी कोरोना का हराने के लिए बुजुर्ग की जमकर तारीफ हो रही है। शामराव इंग्ले विरेंद्र नगर के रहने वाले हैं। इनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद इन्हें  कोरोना...