सण्डीला:होली चार बड़े त्यौहारों में से एक है

by | Mar 31, 2021 | उत्तर प्रदेश

जिला ब्यूरो नरेंद्र शुक्ला
हरदोई.रंगों का त्यौहार होली, हिंदुओं के चार बड़े पर्व में से एक है अर्थात होली एक ऐसा रंग-बिरंगा रंगो का त्यौहार है। जिसे हर धर्म के लोग पूरे उत्साह और मस्ती के साथ मनाते हैं। प्यार भरे रंगों का यह त्यौहार संप्रदाय, जाति धर्म आदि के बंधन खोलकर सभी में भाईचारे का संदेश देता है। इस दिन सभी लोग अपने पुराने अन-बन, वाद-विवाद को भूलकर गले लगते हैं और एक-दूसरे को गुलाल लगाते हैं। इस त्यौहार पर विशेष रूप से बच्चे और युवाओं को रंगों से खेलते हुए देखने के दृश्य अति मनमोहक दृश्य होता है।  रंगो की होली से एक दिनपूर्व  होलिका दहन किया जाता है इसके पीछे एक पौराणिक कथा भी है। कथाओं के अनुसार होलिका दहन के संबंध में एक कहानी बहुत ही प्रसिद्ध रही है – प्राचीन काल में हिरण्यकश्यप नाम का एक राक्षस हुआ करता था और उसकी एक बहन भी थी। जिसका नाम होलिका था और होलिका को आग से न जलने का वरदान कुछ शर्तो के साथ प्राप्त था। हिरण्यकश्यप का एक पुत्र था, जिसका नाम प्रहलाद था। जो विष्णु जी का भक्त था। घमंड में चूर हिरण्यकश्यप स्वयं को भगवान मानता था। वह भगवान विष्णु का कट्टर विरोधी था। जिस कारण वह विष्णु जी पूजा को अपने क्षेत्र पूरी तरह से बन्द कर दिया इसलिए वह भक्त प्रहलाद की विष्णु भक्ति के खिलाफ था। लेकिन उसी घर मे जन्मे विष्णु भक्त से सदैव नाराज था। हिरण्यकश्यप भक्त प्रहलाद को विष्णु भक्ति करने से रोकता था किंतु प्रहलाद ने विष्णु जी पूजन और ध्यान करना बंद नही किया। जिस कारण हिरण्यकश्यप ने भक्त प्रहलाद को मारने के लिए बहुत सारे प्रयास किये किंतु उसका हर प्रयास असफल रहा। अंततः हरिण्यकश्यप ने अपनी बहन होलिका से मदद मांगी और उसने हां भर दिया। भाई के कहने पर होलीका ने भक्त प्रहलाद को अग्नि में गोद में लेकर  जलाने हेतु बैठ गई। होलीका उसी आग में पूरी तरह से जलकर राख हो गई लेकिन श्री विष्णु की कृपा से भक्त प्रहलाद का बाल भी बांका हुआ। इस प्रकार होलिका दहन बुराई पर अच्छाई की विजय है। एक अन्य पौराणिक कथा भी मान्य है जिसके अनुसार भगवान श्री कृष्ण ने इसी दिन गोपियों के साथ रासलीला की थी। इसके उपलक्ष में इसी दिन नंद गांव के सभी लोगों ने रंग और गुलाल के साथ खुशियां मनाई थी।हालांकि संडीला नगर मे जगह जगह होलिका दहन का कार्यक्रम शांतिपूर्ण के साथ सम्पन्न हुआ। होली के पावन त्यौहार पर प्रदीप कुमार ने बताया कि होलिका गायन कर शांति से और बिना डीजे के हम सभी ने कार्यक्रम मनाया। वार्ड 1 के सभासद पति विनोद कुमार ने बताया कि रंगों को त्यौहार होली है और हम सभी को दुश्मनी भूल कर मनाना चाहिये। वार्ड-2 सभासद रवि चौधरी ने कहा कि होली त्यौहार की शुरुवात हरदोई जनपद से हुई और इस जनपद में जन्म लेना हम सभी के लिए सौभाग्य की बात है क्योंकि यह श्री हरि की नगरी है।आशीष सिंह ने कहा कि ईशवर की प्रार्थना और पूजा करने से हर कष्ट दूर होते है। भक्त प्रहलाद के साथ क्या कुछ नही किया गया लेकिन भक्ति के आगे सब नतमस्तक हो गया। अनुराग शुक्ला ने कहा कि रंगों के त्यौहार होली में प्रेम रंग में रंगना चाहिये क्योकि प्रेम के रंग से बढ़कर कोई नही। भक्त प्रहलाद का प्रेम श्री विष्णु के प्रति होने के कारण ही हिरण्य कश्यप भक्त प्रहलाद को मारने में असफल हुआ।

यह न्यूज जरूर पढे 

कोटरा | पूर्व ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि मनोज सिंह पर चुनावी रंजिश को लेकर मारपीट करने के आरोप में मुकदमा दर्ज

कोटरा | पूर्व ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि मनोज सिंह पर चुनावी रंजिश को लेकर मारपीट करने के आरोप में मुकदमा दर्ज

नरेंद्र शुक्ला हरदोई थाना पिहानी की ग्राम पंचायत कोटरा में प्रधानी और बीडीसी हारने से आहत हुए पूर्व ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि मनोज सिंह ने गांव के ही एक व्यक्ति को घर में बंद करके लाठी डंडो से मारपीट की । मनोज सिंह सहित पांच लोगों पर मारपीट का मुकदमा दर्ज घटना के संबंध...

आबकारी विभाग ने चलाया अवैध शराब के खिलाफ अभियान

आबकारी विभाग ने चलाया अवैध शराब के खिलाफ अभियान

ब्यूरो नरेंद्र शुक्ला हरदोई : जिलाधिकारी अविनाश कुमार एवं पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स के दिशा निर्देश पर जिला आबकारी अधिकारी रविशंकर के नेतृत्व में जनपद में चलाए जा रहे प्रवर्तन अभियान के अंतर्गत आज थाना कोतवाली देहात के ग्राम कौड़ा कजंड़पुरवा तथा ओम नगर कंजड़ पुरवा में...

मल्लावां हरदोई : लॉकडाउन 10 मई तक बढ़ने से बाजारों में पसरा सन्नाटा

मल्लावां हरदोई : लॉकडाउन 10 मई तक बढ़ने से बाजारों में पसरा सन्नाटा

नरेंद्र शुक्लामल्लावां हरदोई कस्बे में सप्ताह में 3 दिन के लॉक डाउन को सरकार ने 10 मई तक के लिए बढ़ा दिया है.जिससे मंगलवार को संपूर्ण कस्बे के बाजारों में सन्नाटा पसरा देखा गया। वहीं दूसरी और बिना कार घुमंतू लोगों पर लॉक डाउन का कोई असर नहीं दिखाई दिया स्थानीय पुलिस...