योगी सरकार पर बरसे रिहाई मंच के अध्यक्ष

by | Mar 26, 2021 | उत्तर प्रदेश, लखनऊ

शिवशंकर शुक्ल

 लखनऊ.रिहाई मंच ने यूपी योगी आदित्यनाथ सरकार पर जमकर जुबानी हमला किया है। रिहाई मंच के अध्यक्ष मो. शुऐब ने आरोप लगाया है,कि योगी आदित्यनाथ के चार साल के कार्यकाल में नागरिक स्वतंत्रता, अभिव्यक्ति की आज़ादी, संवैधानिक नैतिकता के पतन और लोकतांत्रिक मूल्यों के ह्रास के लिए न केवल देश के भीतर बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आलोचना की गई। उन्होंने कहा कि योगी सरकार जमकरसरकारी मशीनरी के दुरुपयोग कर रही है। रिहाई मंच महासचिव राजीव यादव ने कहा कि योगी आदित्यनाथ की सत्ता के पिछले चार सालों में कानूनों का डर दिखाकर जन आंदोलनों का दमन का किया गया। और किसानों के आंदोलन को कमजोर करने के लिए नीति अपनाई गई। इस दौरान मंच के पदाधिकारियों सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह न्यूज जरूर पढे 

डीह|खून से लथपथ मिला मासूम का शव,मचा हड़कंप

डीह|खून से लथपथ मिला मासूम का शव,मचा हड़कंप

राजकुमार रायबरेली: नानी के साथ घर के बाहर सो रही 12 वर्षीय मासूम बालिका की संदिग्ध परिस्थितियों में खून से लथपथ लाश गांव के बाहर मिली. लाश मिलने से गांव में हड़कंप मच गया. सूचना पर डीह थाने की पुलिस के साथ उच्च अधिकारी भी मौके पर पहुंचे. जमीन का लालच हत्या का...

क्षेत्र पंचायत सदस्य ने गांव की समस्या को लेकर विकास खण्ड अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

क्षेत्र पंचायत सदस्य ने गांव की समस्या को लेकर विकास खण्ड अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

राजकुमार रायबरेली. विकास खण्ड डीह के पंचम क्षेत्र पंचायत सदस्य बबलू यादव ने अपने क्षेत्र की समस्या को देखते हुए विकस खण्ड अधिकारी को लिखित सूचना पत्र देकर क्षेत्र की समस्या गिनाई और समस्या के निपटारे कि मांग की। डीह पंचम क्षेत्र पंचायत सदस्य ने बताया कि पूरे उपाध्याय...

परशदेपुर|CM योगी की फटकार बेअसर, ब्लॉक प्रमुख के शपथ ग्रहण समारोह में ऐसी हरकत कर गये शिक्षाधिकारी,तस्वीरे कर देगी शर्मसार

परशदेपुर|CM योगी की फटकार बेअसर, ब्लॉक प्रमुख के शपथ ग्रहण समारोह में ऐसी हरकत कर गये शिक्षाधिकारी,तस्वीरे कर देगी शर्मसार

राजकुमाररायबरेली.सीएम योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बनते ही अधिकारियों को यह साफ कह दिया था कि पिछली सरकारों की तरह ढीला रवैया छोड़ना ही होगा। ऐसा न करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। पर लगता है कि अधिकारियों ने या तो उनकी बात को गंभीरता नहीं लिया या फिर वो भूल गए। यह...