खुशखबरी 1 नवंबर से शुरू होगा कोरोना का टीकारण

by | Sep 3, 2020 | देश/विदेश

अमेरिका में 1 नवंबर से होगा covid-19 टीकाकरण शुरू, CDC ने सभी तैयारियां करने का दिया निर्देश

वाशिगंटन। अमेरिका प्रशासन ने सभी राज्‍यों व सरकारी विभागों को 1 नवंबर से संभावित Covid-19 टीकाकरण की शुरुआत करने के लिए तैयारियां शुरू करने के निर्देश दिए हैं। अमेरिका में 3 नवंबर को राष्‍ट्रपति पद के लिए मतदान होना है। डलास स्थित दवाई थोक विक्रेता McKesson Corp ने सरकार के साथ एक समझौता किया है, जिसके तहत जब भी टीका उपलब्‍ध होगा तब उसने देश में वितरण केंद्रों की स्‍थापना के लिए मंजूरी देने की मांग की है।

सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन (सीडीसी) के डायरेक्‍टर रॉबर्ट रेडफील्‍ड ने 27 अगस्‍त को लिखा है कि कोविड-19 टीका वितरण केंद्रों के लिए मंजूरी हासिल करने में लगने वाला समय बहुत अधिक होता है इसलिए सरकार से अनुरोध है कि वह इस आवश्‍यक सार्वजनिक स्‍वास्‍थ्‍य कार्यक्रम की सफलता के लिए सभी रुकावटों को शीघ्र ही दूर करे।

सीडीसी ने वितरण केंद्रों की शीघ्र मंजूरी के लिए सरकार से मदद मांगी है। रेडफील्‍ड ने सरकार ने उन आवश्‍यकताओं को खत्‍म करने की मांग की है, जो इन वितरण केंद्रों को 1 नवंबर, 2020 से पूरी तरह संचालित होने की राह में बाधा खड़ी कर रही हैं।

सीडीसी ने सरकार को टीकाकरण योजना की पूरी विस्‍तृत रिपोर्ट सौंप दी है। इसमें कहा गया है कि या तो इसे लाइसेंस्‍ड टीके के रूप में या इमरजेंसी यूज ऑथोराइजेशन के तहत मंजूरी दी जा सकती है। योजना के मुताबिक लोगों को पहला डोज देने के कुछ हफ्तों बाद संभवत: दूसरे बूस्‍टर डोज की आवश्‍यकता भी होगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार दवा कंपनियों से कोविड-19 टीका खरीदेगी और इन्‍हें मुफ्त में उपलब्‍ध कराएगी।

उधर न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स की रिपोर्ट के मुताबिक सबसे पहले यह टीका फ्रंटलाइन वर्कर्स, नेशनल सिक्‍यूरिटी ऑफ‍िसर्स और वरिष्‍ठ नागरिकों और कमजोर वर्ग के लोगों को लगाया जाएगा। अमेरिका में कोरोना वायरस वैक्सीन बनाने की रेस में तीन कंपनियां आगे चल रही हैं। इन कंपनियों की वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल के तीसरे चरण में हैं, जिनमें हजारों वॉलंटियर्स पर ट्रायल हो रहा है। पहली कंपनी एस्ट्राजेनेका है, जो इंग्लैंड की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ पार्टनर्शिप में वैक्सीन बना रही है। दूसरी कंपनी मॉडर्ना है, जो अमेरिकी नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के साथ वैक्सीन डेवलप कर रही है और तीसरी कंपनी फाइजर है। हालांकि, जिस तरह से अब तक के ट्रायल के परिणाम सामने आए हैं, इससे यह अंदाजा लगाना मुश्किल है कि तीसरे चरण के ट्रायल के परिणाम कब तक आएंगे।

यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्‍ट्रेशन ने कहा है कि ट्रायल खत्‍म होने से पहले ही टीके को इमरजेंसी मंजूरी देने की संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। अमेरिका में कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्‍या 60 लाख है और यहां अबतक इस महामारी से 185,000 लोगों की जान जा चुकी है।

यह न्यूज जरूर पढे 

‘सीता’ के किरदार को लेकर करीना कपूर की बढ़ीं मुश्किलें, बजरंग दल ने चेतावनी देते हुए कहा- फिल्म बनी तो…

‘सीता’ के किरदार को लेकर करीना कपूर की बढ़ीं मुश्किलें, बजरंग दल ने चेतावनी देते हुए कहा- फिल्म बनी तो…

बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना कपूर खान अक्सर सुर्खियों में रहती हैं। कभी अपनी प्रोफेशनल लाइफ, तो कभी पर्सनल लाइफ को लेकर करीना चर्चा में रहती हैं। लेकिन इस बार उनकी आने वाली फिल्म और उसके किरदार को लेकर मसला गंभीर होता जा रहा है। इसी के साथ करीना विवादों में घिरती हुई नजर आ...

परशदेपुर: योगी सरकार के गड्ढामुक्त सड़कों के दावों की उड़ रही धज्जियां

परशदेपुर: योगी सरकार के गड्ढामुक्त सड़कों के दावों की उड़ रही धज्जियां

राजकुमाररायबरेली: उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की सड़को को गड्ढा मुक्त करने का निर्देश दिया था। लेकिन पीडब्ल्यूडी अधिकारियों की लापरवाही से अमेठी संसदीय क्षेत्र के सलोन विधासभा में सीएम योगी के दावों की धज्जियां उड़ रही...

अब मर्द भी हो सकते हैं प्रेग्नेंट! चीन के  वैज्ञानिकों ने कीया अजीबोगरीब रिसर्च

अब मर्द भी हो सकते हैं प्रेग्नेंट! चीन के वैज्ञानिकों ने कीया अजीबोगरीब रिसर्च

चीन के वैज्ञानिक अजीबोगरीब रिसर्च करते रहते हैं. बीते दिनों चीन के वुहान लैब से निकले एक वैज्ञानिक ने दावा किया था कि चीन अजीबोगरीब रिसर्च करते रहता है. वहां कई ऐसे रिसर्च किये जाते हैं जो आमतौर पर अन्य देशों में बैन है. इसी के बीच अब चीन के वैज्ञानिकों ने दावा किया...